मुंगेर की घटना पर भड़के तेजस्वी यादव, कहा- जनरल डायर बनने की इजाजत किसने दी

पटना, 28 अक्टूबर: आरजेडी नेता और महागठबंधन से मुख्यमंत्री के दावेदार तेजस्वी यादव ने मुंगेर की घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि जनरल डायर बनने की इजाजत किसने दी.

बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण की वोटिंग जारी है। इस बीच पटना में महागठबंधन की प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई। इस दौरान तेजस्वी यादव भी मौजूद रहे। उन्होंने मुंगेर की घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि वीडियो क्लिप से साफ पता चल रहा है कि पुलिस का रवैया क्या था। उन्होंने सवाल उठाया कि पुलिस ने लाठी क्यों चार्ज की? गोली क्यों चलाई? उन्होंने मृतक के परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की।

तेजस्वी यादव ने कहा कि पुलिस लोगों को ढूंढ-ढूंढकर पीट रही थी। वीडियो क्लिप दिल दहला देने वाला है। पुलिस का रवैया किसी को समझ नहीं आया। यह साफ दिखाता है कि इसमें डबल इंजन वाली सरकार की भूमिका रही है। सुशील मोदी ने ट्वीट के अलावा क्या किया है। जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी।

मिली जानकारी के मुताबिक, मुंगेर में दुर्गा पूजा के विसर्जन के दौरान पुलिस और श्रद्धालुओं की इस भिड़ंत में 1 युवक की मौत हो गई है, पुलिस की बर्बरता का भी वीडियो सामने आया है.वीडियो के वायरल होने के बाद जिला प्रशासन की खासी आलोचना हो रही है। पुलिस ने फायरिंग भी की, जिसमें एक युवक की मौत हो गई। 6 घायलों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।

डीएम राजेश मीणा और एसपी लिपि सिंह ने इस मामले में सफाई देते हुए बयान जारी किए हैं। एसपी ने दावा किया है कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने पुलिस पर पथराव किया और गोलीबारी की, जिसके बाद अपने बचाव में पुलिस ने कार्रवाई की।

मुंगेर पुलिस का कहना है कि दुर्गा पूजा विसर्जन के दौरान हुई इस घटना में उसके 20 जवान घायल हुए हैं और एक SHO स्तर के अधिकारी का सिर फट गया। एसपी ने युवक की मौत के लिए भी असामाजिक तत्वों की गोलीबारी को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं, डीएम राजेश मीणा ने अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील करते हुए कहा कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है।