सामने आया सोनू सूद का फर्जीवाड़ा, जिसका लिखा सितंबर में नाम, उसने मदद मांगी अक्टूबर में!

लॉकडाउन में कुछ लोगों को अपने निजी खर्चे से उनके घर पहुंचाने वाले बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद का फर्जीवाड़ा सामने आया है। सोनू सूद की पोल किसी और ने नहीं बल्कि सोशल मीडिया यूजरों ने खोली है, सोनू सूद से मदद माँगने वाले ट्विटर अकाउंट या तो गायब हो चुके हैं, या फिर उनमें झोल नजर आ रहा है, जिन्हें लेकर अब सवाल उठने शुरू हो गए हैं।

दरअसल 20 अक्टूबर, 2020 को ट्विटर हैंडल ‘@SnehalMisal8 ने ट्वीट करके अपने बेटे की ओपन हार्ट सर्जरी के लिए सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई थी। टर यूजर ने बताया कि उसके बेटे का शरीर 100% ऑक्सीजन लेवल पर नहीं जा पाता है और 30% तक गिर जाता है।

इस ट्वीट के 5 दिन बाद अभिनेता सोनू सूद ने रिप्लाई करते हुए लिखा कि कल आपके बेटे को मुंबई के SRCC अस्पताल में एडमिट कराया जाएगा और इसी सप्ताह सर्जरी के लिए समय भी तय कर दिया जाएगा। लेकिन, ट्विटर पर कुछ लोगों ने इस ट्वीट को पीआर स्टंट करार दिया।

ऋषि बागरी नामक एक यूजर ने लिखा कि ‘नया ट्विटर अकाउंट, दो-तीन फॉलोवर्स, एक ट्वीट, सोनू सूद को टैग नहीं किया, लोकेशन भी नहीं लिखा है, कॉन्टैक्ट डिटेल्स, ईमेल आईडी भी नहीं है लेकिन सोनू सूद ने उन्हें खोज लिया और मदद करने का आश्वासन दिया।

ऋषि बागरी को रिप्लाई देते हुए सोनू सूद ने लिखा, अच्छी बात ये है कि ज़रूरतमंद लोग उन्हें खोज लेते हैं और वो भी किसी तरह ऐसे लोगों को ढूँढ लेते हैं। इसके साथ ही, सोनू सूद ने मरीज के नाम और ऑपरेशन की तारीख व समय के साथ एक्सेल शीट का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया।

सोनू सूद ने स्क्रीनशॉट डालकर यह बताने की कोशिश की कि उन्होंने लोगों की मदद की है, इसमें सितम्बर 25, 2020 की तारीख दर्ज है, जबकि ट्वीट लगभग एक महीने बाद का है। लोगों ने इसका अर्थ लगाया कि स्वप्निल और सोनू सूद एक महीने पहले से संपर्क में थे, फिर ट्वीट इतने दिनों बाद क्यों किया गया? कुछ लोगों ने डिलीट हुए ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट्स शेयर कर दावा किया था कि सोनू सूद ने जिन-जिन की ट्विटर पर मदद का दावा किया, उनमें से अधिकतर के ट्वीट्स डिलीट किए जा चुके थे।

loading...