परमबीर की हरकत से नाराज हैं शरद पवार और उद्धव सरकार, पुलिस कमिश्नर पद से हो सकती है छुट्टी

ऑन एयर झूठ बोलने वाले मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की अब चारों तरफ बदनामी हो रही है, मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार ने कोर्ट में तो परमबीर सिंह का साथ छोड़ ही दिया अब शरद पवार भी उनसे नाराज बताये जा रहे हैं. ये खबर रिपब्लिक ने अपने सूत्रों के हवाले से दी है।

रिपब्लिक के मुताबिक, मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की हरकत से एनसीपी प्रमुख शरद पवार और उद्धव सरकार के कई मंत्री नाराज है, रिपोर्ट्स की मानें तो जो नाराज हैं उनका कहना है कि जब परमबीर सिंह के पास रिपब्लिक के खिलाफ कोई सबूत नहीं था था तो उन्होनें प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके रिपब्लिक का नाम क्यों लिया।

कुछ मंत्रियों का यह भी कहना है कि परमबीर सिंह की वजह से पूरी सरकार की बदनामी हो रही है. साथ ही पुलिस की भी बदनामी हो रही है, रिपब्लिक ने दावा किया है कि उद्धव सरकार परमबीर को पुलिस कमिश्नर पद से हटाने पर विचार कर रही है, चार पुलिस अफसरों के नाम पर चर्चा चल रही है मुंबई पुलिस कमिश्नर के लिए. इसके अलावा खबर यह भी है कि परमबीर सिंह से टीआरपी घोटाला मामलें में सीबीआई पूछताछ कर सकती है. आपको बता दें कि मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह शरद पवार के बेहद करीबी हैं।

गौरतलब है कि 9 अक्टूबर को मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस की और सीधे तौर पर रिपब्लिक टीवी पर टीआरपी चोरी का आरोप लगाया, मीडिया के सामने परमबीर सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र के दो रीजनल चैनल समेत रिपब्लिक टीवी 500-500 रूपये देकर टीआरपी बढ़वाते हैं, हालाँकि BARC ने जो शिकायत दी थी उसमें रिपब्लिक का नहीं बल्कि इंडिया टुडे का नाम था, इसके बावजूद परमबीर सिंह ने जानबूझकर रिपब्लिक के खिलाफ झूठ बोला। रिपब्लिक टीवी ने परमबीर के खिलाफ 200 करोड़ की मानहानि का मुकदमा करने का ऐलान किया है. रिपब्लिक की लीगल टीम तैयारी शुरू कर चुकी है मुकदमें की।

loading...