समीत ठक्कर के साथ आतंकियों जैसा सलूक कर रही मुंबई पुलिस, उद्धव-आदित्य ठाकरे के खिलाफ किया था ट्वीट

समीत ठक्कर नाम के एक ट्विटर यूजर के खिलाफ मुंबई पुलिस आतंकियों जैसा सलूक कर रही है, नागपुर के रहने वाले समीत का कसूर सिर्फ इतना था कि उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके बेटे कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे के खिलाफ ट्वीट किया था।

समित ठक्कर पर आरोप था कि उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. बताया जा रहा है कि ट्विटर यूजर समित ठक्कर ने सोशल मीडिया पर आदित्य ठाकरे को बेबी पेंगुइन कहा था।

नागपुर की एक अदालत ने समित ठक्कर नाम को 30 अक्टूबर तक पुलिस कस्टड़ी में भेज दिया था, आज उनकी कस्टडी समाप्त हुई, सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया, वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिस उसे अदालत में सुनवाई के लिए ले जा रही है, उसके हाथों को रस्सी से बाँधा हुआ है, उसके सर और चेहरे को काले कपडे से ढका हुआ है।

मुंबई पुलिस सिर्फ एक ट्वीट के लिए समीत ठक्कर के खिलाफ ऐसा क्रूर सलूक कर रही है, आतंकियों और कुख्यात अपराधियों का सर और चेहरा काले कपडे से ढका जाता है, लेकिन मुंबई पुलिस एक आम आदमी के साथ ऐसा सलूक कर रही है।

समित ठक्कर पर 2 जुलाई को दो प्राथमिकी दर्ज की गई, पहली नागपुर में और दूसरी वीपी रोड पुलिस थाना मुंबई। समित पर आरोप है कि उन्होंने सोशल मीडिया मंचों पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे और नितिन राउत पर आपत्तिजनक टिप्पणी की। 1 और 30 जून को समित ने ठाकरे परिवार पर टिप्पणी की थी 1 जुलाई को राउत पर टिप्पणी की थी।