हाथरस केस: कांग्रेस के करीबी साकेत गोखले ने नॉर्को टेस्ट पर स्टे लगाने के लिए दायर की याचिका

हाथरस, 3 अक्टूबर: हाथरस मामलें में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर सख्‍त एक्‍शन लिया है. एसपी समेत कई बड़े पुलिस अधिकारीयों को सस्पेंड कर दिया है साथ में सभी का नार्को टेस्ट करवाने का आदेश भी दिया है, सीएम योगी के इस फैसले का बाद हड़कंप मच गया है, झूठ बोलकर राजनीतिक रोटियां सेंक रही विपक्षी पार्टियों की नींद उड़ गई है।

नार्को टेस्ट के खिलाफ आरटीआई एक्टिविस्ट साकेत गोखले ने कोर्ट का रुख किया है, साकेत गोखले ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर करके नार्को टेस्ट रुकवाने की मांग की है, गोखले ने अपनी याचिका में कहा है कि नार्को टेस्ट बिना मर्जी के नहीं हो सकता, साथ में उन्होनें यह भी कहा है कि नार्को टेस्ट की बात कहकर पीड़ित परिवार को डराने की कोशिश की जा रही है। हालाँकि गोखले की याचिका पर कब सुनवाई होगी इसकी जानकारी अभी नहीं मिल पाई है।

कौन हैं साकेत गोखले।
साकेत गोखले दिल्ली के एक वकील हैं और आरटीआई एक्टिविस्ट भी खुद को कहते हैं, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि साकेत गोखले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बेहद करीबी मानें जाते हैं, साकेत गोखले हमेशा राहुल गांधी के समर्थन में ट्वीट करते हैं और ट्विट्टर पर मोदी विरोधी कैम्पेन चलानें के लिए जानें जाते हैं. राहुल गांधी जितनें ट्वीट करते हैं साकेत गोखले उसे तत्काल रीट्वीट करते हैं।

साकेत गोखले ने एक बार ट्वीट करके कहा था कि मैं कांग्रेस से तब जुड़ा जब राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष बनें, राहुल के लीडरशिप में ही मेरे जैसे युवा लोगों को गैर राजनितिक परिवार से होनें के बावजूद राजनीति में आनें का मौक़ा मिला।

आपको बता दें कि इससे पहले साकेत गोखले उस समय सुर्ख़ियों में आये थे जब इन्होनें राममंदिर भूमिपूजन रुकवाने के लिए इलाहाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, हालाँकि कोर्ट ने उस याचिका को रद्द कर दिया था।

आपको बता दें कि सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने एसआईटी की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर को लापरवाही और शिथिलता के लिए सस्‍पेंड किया है. सीएम के निर्देश पर तत्‍कालीन क्षेत्राधिकारी रामशब्‍द को निलंबित किया गया है. सीएम योगी के निर्देश के अनुसार, सस्‍पेंड किए गए सभी पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ-साथ सभी वादी/प्रतिवादी व्‍यक्‍त‍ियों का भी पॉलीग्राफ व नार्को टेस्‍ट कराए जाएगा।