हाथरस काण्ड पर राजनीति करने निकले राहुल-प्रियंका, 142 किलोमीटर पहले पुलिस ने रोका तो..?

तस्वीर साभार - दैनिक भास्कर

हाथरस काण्ड पर राजनीति तेज हो गई है, यूपी में पिछले तीन दिनों के अंदर तीन जगह रेप हुए लेकिन हाथरस काण्ड पर राजनीती अपने चरम पर है, हाथरस में जिला प्रसाशन ने धारा 144 लगा दी है ताकि बेमतलब की भीड़ न जुट सके, इसके बावजूद राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा सैकड़ों गाड़ियों के काफिले के साथ हाथरस के लिए रवाना हो गए।

पुलिस ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को यमुना एक्सप्रेसवे पर रोक दिया है। रोके जाने के बाद कांग्रेस नेताओं ने हाइवे पर पैदल मार्च शुरू कर दिया। इससे पहले कांग्रेस नेताओं को नोएडा बॉर्डर पर रोके जाने की आशंका थी। हालांकि पुलिस कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस ने डीएनडी बॉर्डर पर राहुल-प्रियंका का काफिला नहीं रोका।

जहां उन्हें रोका गया था, वहां से हाथरस की दूरी 142 किलोमीटर है। इस बीच, राज्य सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने राहुल और प्रियंका पर निशाना साधते हुए कहा, ये जो भाई—बहन दिल्ली से चले हैं, उन्हें राजस्थान जाना चाहिये था। जहां भी ऐसी घटना होती है, वह जघन्य अपराध होता है। राजस्थान में भी वारदात हुई थी, मगर कांग्रेस हाथरस की घटना पर गंदी राजनीति कर रही है।

बता दें कि हाथरस की पीड़िता ने 15 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच जूझने के बाद मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया था। इस पूरी घटना को लेकर विपक्ष यूपी सरकार पर हमलावर है।