कोरोना काल में लाव-लश्कर के साथ राजनीति करने हाथरस जा रहे थे राहुल गांधी, जमकर हो रही थू-थू

हाथरस काण्ड पर राजनीति तेज हो गई है, यूपी में पिछले तीन दिनों के अंदर तीन जगह रेप हुए लेकिन हाथरस काण्ड पर राजनीती अपने चरम पर है, हाथरस में जिला प्रसाशन ने धारा 144 लगा दी है ताकि बेमतलब की भीड़ न जुट सके, इसके बावजूद राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा सैकड़ों गाड़ियों के काफिले के साथ हाथरस के लिए रवाना हुए. यह जानते हुए भी की कोरोना चल रहा है ऐसे में भीड़ जुटाना सही नहीं है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को एक्सप्रेस वे पर रोक लिया गया. यूपी पुलिस की ओर से नोएडा के पास से ही एक्सप्रेस-वे पर राहुल गांधी के मार्च को रोक लिया गया. नोएडा पुलिस की ओर से कहा गया कि हमने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में ले लिया गया है. इस दौरान राहुल गांधी की पुलिस अफसर से बहस भी हुई. कैमरे के सामने राहुल गांधी जानबूझकर गिर गए. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है.

नोएडा पुलिस का कहना है कि हाथरस प्रशासन की चिट्ठी है कि अगर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वहां आते हैं, तो कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है. अब सवाल यह उठता है कि जब पुलिस ने हाथरस में धारा 144 लगाई गई थी तो राहुल गांधी लाव-लश्कर के साथ क्या करने जा रहे थे, अगर राहुल गांधी को पीड़ित परिवार से मिलना ही थी तो अकेले भी जा सकते थे लेकिन उन्होनें ऐसा नहीं किया। सोशल मीडिया पर राहुल और प्रियंका गांधी की जमकर थू-थू हो रही है।