सिंध पुलिस के साथ खड़ी हुई पाकिस्तान की जनता, पाकिस्तानी सेना को बताया आतंकी दल

पाकिस्तान की जनता अब खुलकर सिंध पुलिस के समर्थन में और पाकिस्तानी सेना के विरुद्ध होकर बोल रही है, पाकिस्तान की सियासत में सेना का दखल इतना हो चुका है की अब पाक के सियासी हालत बिगड़ चुके है, पहले से ही पाक की राजनीती की दिशा पाक का सेना अध्यक्ष मोड़ता है लेकिन अब पाकिस्तान की जनता और राजनैतिक दल इससे मुक्ति पाना चाहते हैं।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ पाकिस्तान के 11 विपक्षी दलों ने एकजुट होकर सेना व इमरान खान के खिलाफ रैली कर कड़ा विरोध करना शुरू कर दिया है। एक रैली कराची में भी हुई थी जिसके बाद पूर्व पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के दामाद मोहमद सफदर को बिना किसी सूचना के गिरफ़्तार कर लिया गया था।

मरियम नवाज़ ने आरोप लगाया था कि उनके होटल के कमरे में घुसकर तोड़फोड़ की गई और सफदर को लेकर चल दिए. जिसपर काफी हंगामा हुआ था। इस मामले को लेकर पाक प्रांत सिंध की पुलिस व सेना आमने सामने हो गई इसके बाद बगावती सुर परवान चढ़ने लगे। सिंध पुलिस के आईजी ने छुट्टी पर जाने का ऐलान कर दिया इसी के चलते सिंध के हजारों पुलिस कर्मी भी छुट्टी पर चले गए जिस के कारण इलाके में काफी बवाल की स्थिति बन गई ।

हजारों लोग सड़कों पर उतर आए फिर सेना ने दबाव में आकर अंत में सफदर की गिरफ्तारी की जांच के आदेश करने पड़े, हालाकि की सिंध प्रांत की सरकार ने पुलिस कर्मियों से छुट्टियां वापस लेने की अपील की जिसके बाद अधिकतर अधिकारियों ने छुट्टी वापस ले ली लेकिन पाकिस्तान में इमरान के खिलाफ बगावत के सुर तेज हो रहे।

loading...