अपने पैंतरे में फंसकर पाकिस्तान ने खोली अपनी ही पोल, अब ब्लैकलिस्ट होने से कोई नहीं बचा सकता

Credit - Scroll

पाकिस्तान एक बार फिर अपने पैंतरे में फंसकर अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मार ली, जी हाँ! दरअसल बात यह है कि बुधवार ( 28 अक्टूबर, 2020 ) को पाकिस्तान एक सांसद और पूर्व विदेश मंत्री ने नेशनल असेम्ब्ली में कहा कि भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनन्दन जबतक पाकिस्तान में तब तक पाक सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा, प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी बहुत डरे हुए थे, डर के मारे थार-थर काँप रहे थे।

पाकिस्तानी संसद में पूर्व स्पीकर और पूर्व विदेश मंत्री के कबूलनामे के बाद इमरान की सरकार ने किरकिरी से बचने के लिए खुद ही आतंकवाद पर एक और बड़ा कबूलनामा कर लिया। इमरान सरकार में मंत्री फवाद चौधरी ने संसद में यह कबूल किया कि पुलवामा हमला पाकिस्तान की बड़ी कामयाबी है और उन्होंने इसका श्रेय इमरान खान नियाजी को दिया है।

फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की ब्लैकलिस्ट में जाने से बचने के लिए पाकिस्तान आतंक के खिलाफ कार्रवाई का ढोंग कर दुनिया की आंखों में धूल झोंकता रहा है लेकिन अब उसके ही मंत्री ने संसद में कबूल किया कि पुलवामा हमले को पाकिस्तान ने कराया था। मंत्री के इस कबूलनामे के बाद फिलहाल FATF की ग्रे लिस्ट में शामिल पाकिस्तान के ब्लैकलिस्ट होने की संभावना बढ़ गई है। अब पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट होने से कोई नहीं बचा सकता।

पाकिस्तान के बड़बोले मंत्री ने वहां की संसद में कबूल किया कि पुलवामा हमला पाक की कामयाबी है। दरअसल, पिछले साल पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर एयरस्ट्राइक करके इस हमले का बदला लिया था।