जानिए कैसे मापी जाती है TRP, न्यूज़ चैनलों को कैसे मिलता है TRP से फायदा?

मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके दावा किया है कि रिपब्लिक टीवी ने पैसे देकर टीआरपी खरीदी है, पुलिस कमिश्नर ने सीधे तौर पर रिपब्लिक टीवी को आरोपी मानते हुए कहा कि चैनल ने पैसे देकर रेटिंग बढ़ाई। टीआरपी रैकेट के जरिए पैसा देकर TRP को हेरफेर किया जा रहा था। रिपब्लिक टीवी समेत 3 चैनलों पर टीआरपी से हेरफेर करने का आरोप लगा है, मुंबई पुलिस के मुताबिक़, रिपब्लिक के अलावा महाराष्ट्र के दो रीजनल चैनल हैं यानि मराठी। दोनों चैनलों के मालिकों को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

टीवी न्यूज़ के इतिहास में पहली बार न्यूज़ चैनल की टीआरपी को लेकर पुलिस ने इन्वेस्टिगेशन की है, मुंबई पुलिस के इस खुलासे के बाद लोगों के मन में अब एक सवाल उठ रहा है कि आखिर टीआरपी मापी कैसे जाती है, टीआरपी मापने वाली एजेंसी का नाम क्या है और टीआरपी के घटने-बढ़ने पर न्यूज़ चैनलों को क्या फायदा-नुकसान होता है, तो आज हम इस बारें में विस्तार से जानकारी देंगें।

टीआरपी मापने वाली एजेंसी का नाम
आपको बता दें कि broadcast audience research council ( BARC ) नाम की एक एजेंसी Television Rating Point ( TRP ) मापती है, ये एजेंसी हर हफ्ते गुरुवार को अपना आंकड़ा जारी करती है. इसके आधार पर पता लगता है कि कौन चैनल कितना देखा जा रहा है।

टीआरपी कैसे मापी जाती है.
आसान भाषा में आप ऐसे समझ सकते हैं जैसे चुनाव के बाद न्यूज़ चैनल एग्जिट पोल करते हैं अर्थात कुछ लोगों से बातचीत करके उसी आधार पर आंकड़ा तैयार करते हैं, इसी तरह BARC टीआरपी मापता है। BARC ने भारत के अलग-अलग राज्यों में लगभग 30000 बैरोमीटर लगाए हैं जो विभिन्न कार्यक्रमों की निगरानी करते हैं, फिर मैट्रिक्स के आधार पर BARC विभिन्न टीवी चैनलों को रेटिंग देते हैं। हालाँकि बैरोमीटर किसके घर में लगे हैं इसकी जानकारी किसी को नहीं होती है।

टीआरपी से फायदा
BARC जो टीआरपी जारी करती है, उसी आधार पर न्यूज़ चैनलों को विज्ञापन मिलते हैं, जैसे इस समय रिपब्लिक भारत देश का नंबर-1 न्यूज़ चैनल है तो उसे सबसे ज्यादा विज्ञापन मिलते हैं, रिपब्लिक की कमाई ज्यादा होती है, एनडीटीवी दसवें नंबर पर है तो उसे विज्ञापन कम मिलते हैं, उसकी कमाई कम होती है. विज्ञापन देने वाली कम्पनिया उसी न्यूज़ चैनल को ज्यादा विज्ञापन देती हैं, जजों चैनल सबसे ज्यादा देखा जाता है।