मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी को भेजा नोटिस, पालघर पर किये गए इस डिबेट को बताया साम्प्रदायिक

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के संस्थापक और संपादक अर्नब गोस्वामी के पीछे मुंबई पुलिस हाथ धोकर पड़ गई है, अर्नब उस वक्त से महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस के निशाने पर हैं जबसे उन्होनें पालघर मुद्दे को प्रमुखता से उठाया, उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र के पालघर में 16 अप्रैल 2020 को पुलिस के सामने उन्मादी भीड़ ने दो संतों की पीट-पीटकर ह्त्या कर दी थी।

पालघर में पुलिस के सामने मारे गए संतों को इंसाफ दिलाने के लिए अर्नब गोस्वामी ने अपने चैनल रिपब्लिक के माध्यम से प्रमुखता से आवाज उठाई जो मुंबई पुलिस को रास नहीं आ रहा है, मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी को नोटिस भेजा है, पालघर पर किये गए एक डिबेट को साम्प्रदायिक करार दिया है।

एबीपी न्यूज़ के मुताबिक, रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी को पालघर में साधुओं की भीड़ के हत्या और अप्रैल में बांद्रा स्टेशन के पास प्रवासी कामगारों की भीड़ पर प्रसारित कार्यक्रम को लेकर नोटिस जारी किया है. साम्प्रदायिक टिप्पणी करने के मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि अर्नब गोस्वामी को सीआरपीसी की धारा-108 के तहत नोटिस जारी किया गया है, गोस्वामी को वर्ली डिवीजन के विशेष कार्यकारी मजिस्ट्रेट और सहायक पुलिस आयुक्त के समक्ष शुक्रवार को शाम चार बजे उपस्थित होने को कहा गया है।

नोटिस के मुताबिक, अर्नब गोस्वामी ने पालघर संत हत्याकांड को लेकर रिपब्लिक भारत पर “पूछता है भारत” कार्यक्रम में एक बहस कराई थी, जिसमें उन्होंने कथित तौर पर सवाल किया था कि हिंदू होना और भगवा पहनना अपराध है और क्या वे गैर हिंदू होते तो लोग ऐसे ही चुप रहते. इस टिप्पणी को मुंबई पुलिस ने साम्प्रदायिक माना है। इसीलिए नोटिस भेजा गया।

नीचे आप देख सकते हैं अर्नब गोस्वामी ने जो 21 अप्रैल को डिबेट की थी।

loading...