रिपब्लिक के 1000 पत्रकारों पर FIR, DD पत्रकार बोले- उद्धव जी अत्याचारी रावण का अन्त बुरा ही होता है

रिपब्लिक टीवी और महाराष्ट्र सरकार/मुंबई पुलिस के बीच चल रही तनातनी अब काफी आक्रामक होती जा रही है, मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने रिपब्लिक टीवी के 1000 मीडियाकर्मियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की है. पत्रकारों पर एफआईआर दर्ज होने के बाद दूरदर्शन में कार्यरत वरिष्ठ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने उद्धव सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि अभिमानी रावण का हर बार अन्त बुरा ही होता है। बतातें चले कि रिपब्लिक के एडिटोरियल स्टॉफ के खिलाफ मुंबई के एन एम जोशी मार्ग थाने में आईपीसी की कई धाराओं के तहत दर्ज की गई है।

वरिष्ठ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने ट्वीट कर कहा कि आदरणीय उद्धव ठाकरे जी पता नहीं आपको रामकथा याद है या नहीं ! पर इन दिनों देश भर में रामलीलाओं का मंचन हो रहा है, कहीं भी कोई भी रामलीला देख लें। अत्याचारी और अभिमानी रावण का हर बार अन्त बुरा ही होता है। दूसरे ट्वीट में वरिष्ठ पत्रकार ने लिखा, पत्रकारों और सरकारों के बीच टकराव के बहुत मामले देखे हैं, लेकिन महाराष्ट्र में जो कुछ हो रहा है वो पागलपन के सिवाय कुछ नहीं।

एक अन्य ट्वीट में अशोक श्रीवास्तव ने लिखा, कल्पना कीजिये कि उद्धव ठाकरे की तरह मोदी भी गुजरात से दिल्ली तक अपना विरोध करने वाले पत्रकारों के खिलाफ FIR करवानी शुरू कर देते, तो लुटियंस दिल्ली की पूरी पत्रकार बिरादरी जेल में होती !

रिपब्लिक के 1000 मीडियाकर्मियों पर एफआईआर दर्ज होने के बाद मीडिया हाउस के संपादक और संस्थापक अर्नब गोस्वामी ने कहा कि परमबीर सिंह बदले की भावना से कार्यवाही कर रहे हैं लेकिन मैं और मेरी टीम इनसे डरने वाली नहीं है।, हम डटकर इनका मुकाबला करेंगे।

गौरतलब है कि इससे पहले मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके रिपब्लिक टीवी का नाम टीआरपी घोटाले में घसीटा था लेकिन एफआईआर में रिपब्लिक का नाम है, बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी रिपब्लिक टीवी को क्लीन चिट दे दी है, कोर्ट में मुंबई पुलिस ने माना है कि एफआईआर में रिपब्लिक टीवी का नाम नहीं है।