TRP चोरी में आया नाम तो तिलमिलाया इंडिया टुडे, BARC को दी क़ानूनी कार्यवाही की धमकी

साभार - इंडिया टुडे

जब से मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह भड़ाना ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके टीआरपी में छेड़छाड़ का खुलासा किया है तबसे मीडिया जगत में हड़कंप मच गया है. पुलिस कमिश्नर ने दावा किया कि टीआरपी के हेरफेर में रिपब्लिक समेत महाराष्ट्र के दो रीजनल चैनल शामिल हैं, हालाँकि एफआईआर में रिपब्लिक का नाम नहीं बल्कि इंडिया टुडे का नाम दर्ज है, वो भी एक नहीं 6 बार।

इन सबके के बीच टीआरपी को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है, टेलिविजन दर्शकों की संख्या मापने वाली संस्था ‘ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल’ (BARC) ने टीआरपी में छेड़छाड़ को लेकर इंडिया टुडे पर 5 लाख का जुर्माना लगा चुकी है, ऑपइण्डिया ने एक रिपोर्ट के जरिये इण्डिया टुडे पर लगे जुर्माने को सार्वजनिक किया था. अब इण्डिया टुडे ने भी इसे कबूल लिया है. पहले छुपा रहा था।

इंडिया टुडे ने माना है कि उन्हें रेटिंग एजेंसी BARC द्वारा जुर्माना लगाया गया था। बता दें, ऑपइण्डिया ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि इंडिया टुडे पर BARC ने जुर्माना लगाया था। वहीं अब इंडिया टुडे ने BARC पर निशाना साधते हुए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दी है।

ऑपइण्डिया के सनसनीखेज खुलासे के बाद इण्डिया टुडे ने शुक्रवार को एक स्टेटमेंट जारी किया। जिसमें BARC को कानूनी कार्रवाई की धमकी दी, क्योंकि यह ‘गोपनीय सुनवाई’ थी। इंडिया टुडे ने आरोप लगाया है कि BARC ने ‘कोई ठोस सबूत पेश किए बिना’ उसपर जुर्माना लगाया है, जबकि OpIndia ने अपने खिलासे में जुर्माने के पीछे कई कारणों का जिक्र किया है।

ओपइंडिया के मुताबिक BARC द्वारा 27 अप्रैल को ‘इंडिया टुडे चैनल’ को नोटिस जारी किया गया था। जिसमें चैनल की रेटिंग में (खासकर मुंबई और बेंगलोर) उछाल को लेकर उनसे जवाब मांगा गया था। उनके जवाब से ‘असंतुष्ट’ होकर BARC ने उनपर जुर्माना लगाया था।

पढ़िए इंडिया टुडे का पूरा स्टेटमेंट