हाथरस: योगी सरकार ने जो सुरक्षा दी है, उसपर पीड़ित परिवार ने जताई आपत्ति, हाईकोर्ट पहुंचा मामला

चित्र साभार - हिंदुस्तान टाइम्स

हाथरस, 8 अक्टूबर: हाथरस के पीड़ित परिवार को कोई परेशानी न हो, कोई उन्हें डरा-धमका न सके, इसके लिए योगी सरकार ने सुरक्षाकर्मियों की तैनाती कर दी लेकिन पीड़ित परिवार ने इस पर आपत्ति जाहिर की है.

पीड़िता के परिवार की ओर से एक सामाजिक कार्यकर्ता ने हाईकोर्ट में अर्जी देकर राहत दिलाने की मांग की है। इस अर्जी में कहा गया है कि अत्‍यधिक सुरक्षा और पुलिस-प्रशासन की बंदिशों की वजह से परिवार घर में कैद होकर रह गया है। अर्जी में परिवार को लोगों से मिलने-जुलने और अपनी बात खुलकर कह सकने की छूट दिए जाने की मांग की गई है।

आपको बता दें कि कोर्ट के आदेश पर सरकार ने पीड़ित परिवार की सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम कर दिया, पीड़िता के भाई के साथ दो सुरक्षाकर्मी 24 घंटे तैनात किये गये है।

पुलिस के अनुसार पीड़िता के घर के बाहर डेढ़ सेक्शन पीएसी (करीब 12 से 15 जवान) चौबीस घंटे स्थायी रूप से तैनात कर दी गयी है। पीड़िता के भाई की सुरक्षा के लिये दो सुरक्षाकर्मी 24 घंटे तैनात किये गये है और यह निजी सुरक्षाकर्मी के रूप में काम कर रहे है।

पुलिस ने बताया कि इसके अलावा गांव में किसी प्रकार का तनाव व्याप्त न हो इसके लिये पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। इसमें पुलिस के 15 जवान, तीन एसएचओ (थाना प्रभारी स्तर के अधिकारी) तथा एक डिप्टी एसपी (पुलिस उपाधीक्षक) रैंक का अधिकारी लगातार चौबीस घंटे गांव में तैनात है।

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त पीड़ित परिवार की महिलाओं की सुरक्षा के वास्ते घर के आसपास दो महिला सब इंस्पेक्टर और छह महिला कांस्टेबल की ड्यूटी चौबीस घंटे दो पालियों में लगायी गयी है। इसके अलावा दिन के समय लोगों की आवाजाही बढ़ने पर अतिरिक्त पुलिस बल भी लगाया जाता है।