पुलिस स्टेशन से रिहा किये गए दीपक शर्मा, हाथरस में आपिये संजय सिंह का मुंह कर दिया था काला

हाथरस, 5 अक्टूबर: समाजसेवी दीपक शर्मा को ससम्मान पुलिस स्टेशन से रिहा कर दिया है, दीपक की रिहाई रात करीब 10 बजे हुई, दीपक शर्मा ने हाथरस में सोमवार को करीब तीन बजे आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह का मुंह काला कर दिया था जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था और स्थानीय थाने में रखा था देर रात रिहा कर दिया, दीपक शर्मा की रिहाई के लिए सोशल मीडिया पर जोरशोर से कैम्पेन चला।

दरअसल हाथरस केस में राजनीति करने के लिए आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद सिंह पीड़ित परिवार से मुलाक़ात करने हाथरस पहुंचे थे, मुलाक़ात करने के बाद संजय सिंह मीडिया को सम्बोधित करने जा रहे थे, इसी दौरान वहां मौजूद दीपक शर्मा ने संजय सिंह के ऊपर काली स्याही फेंक दी और नारे लगाए, पीएएफई के दलालों वापस जाओ, वापस। आपको बता दें कि हाथरस केस के जरिये यूपी में दंगा कराने की साजिश रची गई, उसमें पीएएफआई का नाम भी आया है। पीएफआई एक कट्टर इस्लामिक संगठन है, दिल्ली में हुए हिन्दू विरोधी दंगों में भी इसका नाम आया है।

दीपक शर्मा का कहना है कि जो भी हाथरस आ रहा है उसे पीड़िता से कोई संवेदना नहीं है, सब अपनी राजनैतक रोटियां सेंकने के लिए आ रहे हैं।

आपको बता दें कि हाथरस केस में मीडिया ने जमकर एजेण्डाबाजी की, मामलें को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया, लेकिन दीपक शर्मा ने एक स्वतंत्र पत्रकार के तौर पर मेनस्ट्रीम मीडिया के फर्जी कारनामों का पर्दाफाश कर दिया, दीपक ने ग्राउंड से रिपोर्ट करके सारी सच्चाई सामने ला दी।