हाथरस: प्रियंका ने जिस भाभी को लगाया गले वो निकली नक्सली, लोग बोले- ये रिश्ता क्या कहलाता है

हाथरस केस में जैसे-जैसे जाँच आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे बड़े खुलासे हो रहे हैं, अब एक चौंका देने वाला खुलासा हुआ है, जी हाँ! हाथरस केस नक्सल कनेक्शन सामने आया है, दरअसल जो घूंघट वाली महिला पीड़िता की भाभी बनकर घर में रह रही थी असल में वो पीड़िता की भाभी नहीं एक नक्सली है। इसका खुलासा होने के बाद हाथरस में हड़कंप मच गया है.

कहा जा रहा है कि प्रियंका गांधी वाड्रा ने जिस महिला को गले लगाया था वो मध्यप्रदेश के जबलपुर की एक नक्सली है और पीड़िता की भाभी बनकर रह रही थी, ये नक्सली महिला घूंघट ओढ़कर मीडिया को अपनी बाइट दे रही थी और पुलिस को भी. ये महिला हमेशा घूंघट में ही रहती थी. ये नक्सली महिला हाथरस में कौन सा खेल खेलने और किसके इशारे पर पहुँची थी ये तो उसकी गिरफ़्तारी के बाद ही पता चलेगा। एसआईटी की जांच में सामने आया है कि एक हफ्ते से ज्यादा तक पीड़िता के घर में रहकर नक्सली महिला बड़ी साजिश रच रही थी. हालाँकि जबसे महिला के नक्सली होनें का खुलासा हुआ है तबसे सोशल मीडिया पर प्रियंका गांधी वाड्रा को लेकर तरह-तरह की बातें कही जा रही है.

आरोप है कि पीड़िता के ही घर में रहकर वह परिवार के लोगों को कथित रूप से भड़का रही थी. पीड़िता की भाभी बनकर रहने वाली नक्सली महिला की कॉल डिटेल्स में कई चौंकाने वाले खुलासे सामने आए हैं. बताया जा रहा है कि नक्सली महिला को भनक लगते ही वो मौके से फरार हो गई है, एसआईटी उसकी तलाश में जुटी है।

नक्सली महिला की तलाश के साथ-साथ एसआईटी इस बात का भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर इसको मध्यप्रदेश से हाथरस कौन लेकर आया, इसके पीछे किसका हाथ है।

loading...