हाथरस केस: 6 महीनें के मध्य आरोपी संदीप और पीड़िता के बीच लगभग 5 घंटे बातचीत हुई, कॉल डिटेल में खुलासा

साभार: आजतक

हाथरस केस में अब धीरे-धीरे सारी सच्चाई सामने आ रही है, इसके साथ ही पीड़ित परिवार की पोल भी खुल रही है, अब कॉल डिटेल्स के जरिये बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपी संदीप और मृतक पीड़िता के बीच मित्रता थी और दोनों के बीच लगभ्ग 5 घंटे बातचीत हुई थी, हालाँकि पीड़िता के भाई ने दावा किया था कि वो संदीप को जानता तक नहीं बातचीत की बात तो बहुत दूर है हालाँकि कॉल रिकॉर्ड्स के जरिये पीड़िता के भाई की झूठ की पोल खुल गई है।

हाथरस मामले में कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड के अनुसार पीड़िता और आरोपी के मध्य अक्टूबर 2019 से लेकर मार्च 2020 तक यानि लगभग 6 महीनें में 4 घंटे 57 मिनट बातचीत हुईं। दोनो के घर नजदीक ही हैं, बात खुलने पर संदीप के घरवालों ने उसे बाहर भेज दिया था। पिछले महीनें संदीप फिर घर लौटा था, सितंबर में वापस आने के बाद क्या घटना हुई, कॉल डिटेल से सब सामने आ जायेगा।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस केस को सीबीआई को सौंप दिया है, आरोपित परिवार बीआई जांच का स्वागत कर रहा है जबकि पीड़ित परिवार सीबीआई जांच से खुश नहीं है, वो नहीं चाहता की सीबीआई जांच हो।

इस मामले में योगी सरकार ने पहले नार्को टेस्ट की भी बात कही थी, आरोपी का परिवार नार्को टेस्ट के लिए मान गया पर मृतक लड़की का परिवार नार्को टेस्ट से इंकार करता रहा, फिर सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी तो इसका भी आरोपियों के परिवारों ने स्वागत किया जबकि मृतक के भाई माँ और परिवार ने सीबीआई जांच से इंकार कर दिया। हालाँकि पीड़ित के चाहने और न चाहने से कुछ नहीं होगा, मामलें की सीबीआई जांच होगी। ताकि सच्चाई सामने आ सके।

अपने आप में शायद यह पहला मामला होगा जिसमें पीड़ित परिवार को न्याय तो चाहिए लेकिन वो सीबीआई जांच से इनकार कर रहा है जबकि आरोपी पक्ष चाहता है सीबीआई जांच हो।