हाथरस की नकली भाभी के बारें में हुआ बेहद चौंकाने वाला खुलासा, जानकार रह जाओगे दंग

हाथरस, 11 अक्टूबर: HATHRAS केस में नक्सल कनेक्शन सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। आरोप है कि पीड़िता के घर में भाभी बनकर रह रही महिला नक्सली है, एसआईटी की टीम मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली इस महिला की तलाश में जुटी है, इसी बीच नक्सली होने का आरोप लगने पर प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल मीडिया के सामने आई हैं, उन्होनें खुद के ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया है, उनका कहना है कि मैं एक डॉक्टर हूँ और आत्मीयता के नाम पर पीड़ित परिवार की मदद करने आई लेकिन मुझे नक्सली बताया जा रहा है, पुलिस को मेरे नक्सली होने का सबूत देना चाहिए।

नक्सली होने का आरोप लगने के बाद हाथरस की फेक भाभी उर्फ़ मध्यप्रदेश के जबलपुर की डॉ राजकुमारी बंसल सुर्ख़ियों में हैं, इन सबके बीच राजकुमारी के बारें में चौंका देने वाला खुलासा हुआ है, जिसे जानकर आप भी हैरान हो जायेंगें, जी हाँ! नकली भाभी हर महींने दो लाख रूपये सैलरी तो लेती हैं लेकिन ड्यूटी से अनुपस्थित रहती हैं, कोई विरोध करता है तो उसे SC/ST एक्ट में फंसाने की धमकी देती है।

जानकारी के अनुसार, डॉ राजकुमारी बंसल उर्फ़ हथरस वाली नकली भाभी नेताजी सुभाष मेडिकल कॉलेज जबलपुर में कार्यक्रत हैं लेकिन 10 फीसदी से भी कम इनकी उपस्थिति रहती है. राजकुमारी बंसल की लगभग २ लाख रुपए सैलरी है, मुफ्त आवास भी मिला व् कई अन्य प्रकार के भत्तों को भी लाख लेती हैं., राजकुमारी बंसल से प्रिंसिपल से लेकर डीन सब इससे डरते हैं, क्योंकि इसका सबसे बड़ा हथियार है SC/ST एक्ट, कोई कुछ बोलता है तो तत्काल
SC/ST एक्ट में फंसाने की धमकी देती है।

आरोप है कि आगरा में हुए संजलि हत्याकांड में डॉक्टर राजकुमारी बंसल मौसी बनकर आई थी, आपको बता दें कि आगरा में लालऊ गांव की संजलि को 18 दिसंबर, 2018 को स्कूल से घर लौटते समय रास्ते में जिंदा जला दिया गया था। वो साइकिल से आ रही थी। उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी गई थी। घटना से आगरा दहल उठा था। देश के कई हिस्सों में कैंडल मार्च निकाले गए थे। उसमें हाथरस वाली भाभी मौसी बनकर पहुँची थी।