बड़ा खुलासा: संजलि हत्याकांड में पीड़िता की मौसी बनकर बड़ा ड्रामा कर चुकी है हाथरस की फर्जी भाभी

हाथरस केस में पीड़िता की भाभी बनकर ड्रामा करने वाली डॉ राजकुमारी बंसल के बारें में बड़ा खुलासा हुआ है, जी हाँ! पेशे से फॉरेंसिक एक्सपर्ट राजकुमारी अपनी नौकरी पर काम ध्यान देती हैं जबकि घूम-घूमकर राजनीति ज्यादा करती हैं.

डॉ राजकुमारी बंसल दो वर्ष पहले आगरा में संजलि हत्याकांड में आगरा आई थी। तब वह संजलि की मौसी बनकर दिल्ली से ही शव के साथ आई थी। शव का अंतिम संस्कार करने से रोकने की कोशिश की थी। मगर, ग्रामीणों के आगे आ जाने के कारण उनकी नहीं चल सकी थी। बाद में पुलिस की जांच में फर्जी मौसी का मामला खुला था। तब तक वह यहां से चली गई थी।

आपको बता दें कि मलपुरा के लालऊ निवासी 15 वर्षीय संजलि 18 दिसंबर 2018 को स्कूल से साइकिल लेकर घर जा रही थी। तभी रास्ते में उसके ऊपर पेट्रोल डालकर आरोपितों ने आग लगा दी थी। संजलि अनुसूचित जाति से थी। इसलिए इसको मुद्​दा बनाने की कोशिश की थी। इसके लिए हाथरस के फर्जी भाभी मौसी बनकर पहुँची थी. लेकिन न आगरा में सफल हो पाई और न ही ही हाथरस में।