नक्सली भाभी का इंटरव्यू लेने वाली चित्रा समेत सभी पत्रकारों का हो नार्को टेस्ट, सोशल मीडिया पर उठी मांग

तस्वीर साभार - आजतक

हाथरस केस में जैसे-जैसे जाँच आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे बड़े खुलासे हो रहे हैं, अब इस मामलें में नक्सल कनेक्शन सामने आया. दरअसल जो घूंघट वाली महिला पीड़िता की भाभी बनकर घर में रह रही थी असल में वो पीड़िता की भाभी नहीं एक नक्सली है। इसका खुलासा होने के बाद हाथरस में हड़कंप मच गया है। सोशल मीडिया पर भी उबाल है।

जानकारी के अनुसार, पीड़िता के घर में भाभी बनकर रह रही नक्सली महिला मध्यप्रदेश के जबलपुर की रहने वाली है। एसआईटी की टीम इस नक्सली महिला की तलाश में जुट गई है।

ये नक्सली महिला लंबा-चौड़ा घूंघट ओढ़कर मीडिया को अपनी बाइट दे रही थी और पुलिस को भी। ये महिला हमेशा घूंघट में ही रहती थी. ये नक्सली महिला हाथरस में कौन सा खेल खेलने और किसके इशारे पर पहुँची थी ये तो उसकी गिरफ़्तारी के बाद ही पता चलेगा। लेकिन इसका खुलासा होने के बाद उन पत्रकारों पर भी सवालिया निशान खड़े हो गए हैं, जिन्होनें इस नक्सली महिला का इंटरव्यू लिया।

नक्सली महिला का खुलासा होनें के बाद सोशल मीडिया पर माहौल गरम है, सोशल मीडिया यूजरों का मानना है कि नक्सली महिला का इंटरव्यू लेने वाली आजतक की सीनियर एंकर चित्रा त्रिपाठी, भारत समाचार की प्रज्ञा मिश्रा समेत हर उन पत्रकारों का नार्को टेस्ट होना चाहिए जिन्होनें इस नक्सल भौजी का इंटरव्यू लिया है। ये नक्सली महिला एक खास जाति के खिलाफ जमकर जहर उगल रही थी और इसके जहर को फैलाने का काम किया कुछ पत्रकारों ने एक एजेंडा के तहत।

सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि इंटरव्यू लेने से पहले पत्रकारों ने उस नक्सली महिला के बारें में जानकारी क्यों नहीं ली, कहीं ये सब प्लानिंग के तहत तो नहीं हो रहा था, इन सबसे पर्दा उठाने के लिए नक्सली भौजी का इंटरव्यू लेने वाले पत्रकारों का नार्को टेस्ट जरुरी है. फिलहाल नक्सली भौजी फरार हैं, उनकी तलाश में पुलिस जुटी है.

एसआईटी की जांच में सामने आया है कि एक हफ्ते से ज्यादा तक पीड़िता के घर में रहकर नक्सली महिला बड़ी साजिश रच रही थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नक्सली महिला घूंघट ओढ़कर पुलिस और एसआईटी से बातचीत कर रही थी. घटना के 2 दिन बाद से ही संदिग्ध महिला पीड़िता के गांव पहुंच गई थी।

आरोप है कि पीड़िता के ही घर में रहकर वह परिवार के लोगों को कथित रूप से भड़का रही थी. पीड़िता की भाभी बनकर रहने वाली नक्सली महिला की कॉल डिटेल्स में कई चौंकाने वाले खुलासे सामने आए हैं. बताया जा रहा है कि नक्सली महिला को भनक लगते ही वो मौके से फरार हो गई है, एसआईटी उसकी तलाश में जुटी है।