हाथरस का सच आया सामने, आरोपी संदीप ने जेल से चिट्ठी लिखकर कहा- लड़की से मेरी दोस्ती थी लेकिन.?

हाथरस केस का सच कुछ हद तक सामने आ गया है, गैंगरेप और ह्त्या के आरोप में जेल में बंद मुख्य आरोपी संदीप ने जेल से ही चिट्ठी लिखी है, इस चिट्ठी के माध्यम से संदीप समेत चारों आरोपियों ने खुद को निर्दोष बताया है।

इस चिट्ठी में चारों आरोपियों ने कहा कि वह निर्दोष हैं. घटना के मुख्य आरोपी संदीप ने दावा किया है कि पीड़िता के साथ उसकी दोस्ती थी, जिससे उसका परिवार नाराज था. संदीप के मुताबिक, यह पूरा मामला ऑनर किलिंग का है.

एसपी को भेजे गए चिट्ठी में संदीप ने कहा कि पीड़िता के साथ मेरी दोस्ती थी. मुलाकात के साथ मेरी कभी-कभी उससे फोन पर बात हो जाती थी. मेरी यह दोस्ती उसके घर वालों को पसंद नहीं थी. चिट्ठी में उसने लिखा है कि घटना के दिन वह लड़की से मिलने खेत पर गया था, वहां पर लड़की की माँ और भाई पहले से मौजूद थे पर उसने मारपीट या कोई गलत काम नहीं किया। नीचे पूरी चिट्ठी पढ़ सकते हैं।

Image

आपको बता दें कि मृत लड़की के परिवार वाले आरोपी और मृतका की दोस्ती से इनकार कर रहे हैं जबकि कॉल डिटेल्स से भी खुलासा हुआ है कि आरोपी संदीप और मृतका के बीच 6 महीनें के भीतर 104 बार काल की गई, जिसकी अवधि लगभग 5 घंटे हैं, वहीँ मृतका के भाई का कहना है कि हमें कॉल डिटेल्स पर भरोसा नहीं है। खैर इस पूरे मामलें की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ( एसआईटी ) कर रही है, जो हफ्ते के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपेगी, इसके अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ ने दूध का दूध और पानी का पानी करने के लिए सीबीआई जांच की भी सिफारिश कर दी है, इसके अलावा पीड़ित पक्ष और आरोपी पक्ष का नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट कराने का भी आदेश दिया है।

आरोपित पक्ष ने सीबीआई जांच का स्वागत किया है और नार्को टेस्ट देने को तैयार हैं तो वहीँ इन्साफ मांग रहा पीड़ित परिवार सीबीआई जांच पर आपत्ति जताया है और नार्को टेस्ट भी देने से इनकार कर दिया है।