एक्शन में राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, 118 पाकिस्तानियों को फ़्रांस से भगाया, 183 का वीजा रद्द

मुस्लिमों द्वारा फ़्रांस में किये गए हमले के बाद अब फ़्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कट्टरपंथियों के खिलाफ एक्शन लेना शुरू कर दिया है, जिसकी वजह से इस्लामिक मुल्क बिलबिलाये हुए हैं, पाकिस्तान ने भी भी फ़्रांस के खिलाफ जहर उगला।

इसके अलावा पाकिस्तान ने अपने संसद में एक प्रस्ताव भी पास कर दिया जिसके जरिये फ़्रांस में पाकिस्तानी राजदूत को वापस बुलाने का निर्णय लिया गया, बाद में पता चला की फ़्रांस में तो पाकिस्तान का कोई राजदूत है ही नहीं।

फ़्रांस ने अपने देश से 118 पाकिस्तानी मुसलमानों को बाहर भगा दिया है, उन सबको पाकिस्तान जाने वाली फ्लाइट्स में बिठा दिया गया है, इसके साथ साथ फ़्रांस ने 183 पाकिस्तानी लोगों का वीजा भी रद्द कर दिया है।

फ़्रांस की विपक्ष की नेता मरीन ला पेन ने पाकिस्तान पर बैन लगाने की मांग भी सरकार से कर दी है, जानकारी के अनुसार फ़्रांस पाकिस्तान पर बैन भी लगा सकता है जिसके बाद पाकिस्तानी नागरिक फ़्रांस नहीं जा सकेंगे। अगर फ़्रांस ने बैन लगाया तो पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा झटका होगा।

आपको बता दें कि फ़्रांस में एक हफ्ते के भीतर 4 फ्रेंच नागरिकों की ह्त्या की जा चुकी है, एक मुस्लिम सख्श ने पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाने पर शिक्षक का सर कलम कर दिया तो एक ने अल्लाह-हु अकबर चिल्लाते हुए चर्च में घुसकर एक महिला का गला रेता और दो लोगों की चाकू से मारकर ह्त्या कर दी, इन दोनों घटनाओं को फ़्रांस के राष्ट्रपति इम्मैन्युअल मैक्रों ने इस्लामिक आतंकवाद करार दिया है. साथ ही उन्होंने इस्लामिक आतंकवाद के विरुद्ध जंग भी छेड़ दी है, भारत ने भी फ़्रांस का समर्थन करने का ऐलान किया है।