महंगा पड़ा फेक न्यूज़ फैलाना, गुजरात के गृहमंत्री ने NDTV पर केस दर्ज करने के दिए आदेश!

एनडीटीवी नामक एक न्यूज़ चैनल हमेशा से प्रोपोगैंडा और फेक न्यूज़ फैलाने के लिए कुख्यात रहा है, एनडीटीवी अनगिनत बार फेक न्यूज़ फैलाते पकड़ा गया है लेकिन हर बार इसपर कोई कार्यवाही नहीं होती थी, लेकिन इस बार एनडीटीवी  तनिष्क विज्ञापन मामलें पर फेक न्यूज़ पर फैलाकर बुरी तरीके से फंस गया है, गुजरात के गृहमंत्री प्रदीप सिंह जड़ेजा ने केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

बात दरअसल यह है कि ज्वैलरी ब्रांड तनिष्क द्वारा विज्ञापन वापस लेने के बाद एनडीवी ने ब्रेकिंग चलाते हुए दावा किया कि विवाद के चलते गुजरात के गाँधीधाम में तनिष्क के एक स्टोर पर हमला हुआ है। एनडीटीवी के मुताबिक, हमलावरों की भीड़ ने कथित तौर पर स्टोर मैनेजर को माफी पत्र लिखने के लिए कहा था।

गुजरात के गृहमंत्री जड़ेजा ने इसका खंडन करते हुए कहा, NDTV द्वारा गाँधीधाम (गुजरात) के तनिष्क स्टोर पर हमले की फैलाई गई खबरें पूर्णतः झूठ और फ़र्ज़ी हैं। यह बिलकुल ही गलत मंशा से गुजरात में कानून-व्यवस्था बिगाड़ने और हिंसा भड़काने के उद्देश्य से किया गया कार्य है। मैंने इन लोगों पर मामला दर्ज करने को कहा है और फेक न्यूज चलाने वालों पर सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

इससे पहले कच्छ के IPS ऑफिसर ने भी इस खबर को को प्रोपेगेंडा के तहत चलाई जाने वाली खबर बताया। उन्होंने कहा था, मीडिया चैनल दिखा रहे हैं कि तनिष्क शॉप पर हमला हुई है, दंगा हुआ है या चोरी हुआ है, तो ये यब गलत न्यूज है, फेक न्यूज है।

आपको बता दें कि ज्वैलरी ब्रांड तनिष्क ने एक सेक्युलर एड दिया था, इस विज्ञापन के जरिये तनिष्क यह सन्देश देना चाहता था कि हिन्दू लड़कियों को मुस्लिम घरों में पूरी आज़ादी है धर्म की हालाँकि ये सब वास्तव में सच्चाई से काफ़ी दूर है। तनिष्क के विज्ञापन का जमकर विरोध हो रहा है. सोशल मीडिया पर लगातार बॉयकॉट तनिष्क ट्रेंड कर रहा है।

loading...