फिर नजरबन्द किये गए फारूक अब्दुल्ला, छूटने के बाद उगल रहे थे भारत के खिलाफ जहर

जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को प्रसाशन ने एक बार फिर से नजरबन्द कर दिया है. आपको बता दें कि इससे पहले जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद फारूक अब्दुल्ला को नजरबन्द किया गया था और तकरीबन एक साल बाद वो रिहा हुए थे. रिहा होने के बाद फारुख अब्दुल्ला भारत विरोधी बयान दे रहे थे जिसके बाद अब उन्हें फिर नजरबन्द कर दिया गया है।

फारुख अब्दुल्ला को नजरबन्द किये जाने के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध प्रदर्शन किए हैं। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू कश्मीर प्रशासन ने नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष व सांसद फारूक अब्दुल्ला को एक बार फिर उनके घर में ही नजरबंद कर दिया गया है।

उन्हें घर से निकलने की इजाजत नहीं दी जा रही है। अब्दुल्ला शुक्रवर सुबह जब हजरबल दरगाह पर ईद की नमाज पढ़ने के लिए घर से निकलने लगे तो उनकी सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बाहर जाने से रोक दिया। सूत्रों का कहना है कि फारूक अब्दुल्ला ने इसका विरोध भी किया परंतु सुरक्षाबलों ने उनकी एक नहीं सुनी और उन्हें गेट से बाहर निकलने की इजाजत नहीं दी।

अब्दुल्ला ने कहा कि वह किसी राजनीतिक कार्यक्रम में नहीं बल्कि ईद की नमाज अदा करने के लिए दरगाह जाना चाहते हैं परंतु उनकी बात को अनसुना कर दिया गया।