रिपब्लिक के खिलाफ परमबीर ने जो किया वो सही नहीं, उन्हें दंड मिलना चाहिए: पूर्व DGP विक्रम सिंह

ऑन एयर झूठ बोलने वाले मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की अब चारों तरफ बदनामी हो रही है, मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार भी परमबीर सिंह का साथ छोड़ चुकी है वहीँ रिटायर्ड पुलिस अफसर भी कह रहे हैं कि परमबीर ने जो किया वो सही नहीं। उन्होनें रिपब्लिक टीवी के खिलाफ तो झूठ बोला ही, इसके साथ ही खाकी पर भी लांक्षन लगा दिया, रिटायर्ड पुलिस अफसर विक्रम सिंह ने कहा कि परमबीर ने जो किया वो सही नहीं है, उन्हें दण्डित किया जाना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक ( डीजीपी ) विक्रम सिंह ने कहा कि परमबीर सिंह रिपब्लिक टीवी के खिलाफ पूर्वाग्रह से ग्रसित थे, इतनी जल्दी हड़बड़ा के प्रेस-कॉन्फ्रेंस करना क्या मज़बूरी थी पुलिस कमिश्नर की कि बिना पूरा तथ्य सामने आये ही जल्दी से प्रेस-कॉन्फ्रेंस कर दिए। पूर्व डीजीपी ने कहा कि परमबीर सिंह अपने पीआरओ से भी प्रेस-कॉन्फ्रेंस करवा सकते थे लेकिन प्रतिशोध की भावना से उन्होनें रिपब्लिक टीवी और अर्नब को टारगेट करके खुद प्रेस-कॉन्फ्रेंस कर डाली बिना सबूतों के।

पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने कहा कि परमबीर सिंह ने गलती की है उसका दंड उन्हें मिलना ही चाहिए, उन्होंने कहा, मुझे उम्मीद है राष्ट्रपति महोदय और DOPT जरूर परमबीर के झूठ पर कार्रवाई करेगें। आपको बता दें कि झूठ बोलने वाले परमबीर सिंह को सोमवार ( 19 अक्टूबर, 2020 ) को बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी फटकार लगाई, कोर्ट ने कहा कि रिपब्लिक टीवी और अर्नब गोस्वामी के खिलाफ कोई सबूत नहीं हैं।

गौरतलब है कि 9 अक्टूबर को मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस की और सीधे तौर पर रिपब्लिक टीवी पर टीआरपी चोरी का आरोप लगाया, मीडिया के सामने परमबीर सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र के दो रीजनल चैनल समेत रिपब्लिक टीवी 500-500 रूपये देकर टीआरपी बढ़वाते हैं, हालाँकि BARC ने जो शिकायत दी थी उसमें रिपब्लिक का नहीं बल्कि इंडिया टुडे का नाम था, इसके बावजूद परमबीर सिंह ने जानबूझकर रिपब्लिक के खिलाफ झूठ बोला। रिपब्लिक टीवी ने परमबीर के खिलाफ 200 करोड़ की मानहानि का मुकदमा करने का ऐलान किया है. रिपब्लिक की लीगल टीम तैयारी शुरू कर चुकी है मुकदमें की।