निकिता तोमर के हत्यारों को ऐसी सजा मिले की आशिक इश्क भूल जाए: पूर्व DGP विक्रम सिंह

फरीदाबाद, 27 अक्टूबर: एकतरफा में प्यार में पगलाए तोसीफ ने हिन्दू युवती निकिता तोमर की दिनदहाहे गोली मारकर ह्त्या कर दी, युवती निकिता तोमर बल्लबगढ़ के अग्रवाल कॉलेज में बीकॉम फाइनल ईयर की परिक्षा देने आयी थी, जैसे ही वह परिक्षा देकर बाहर निकली तौसीफ और रेहान ने उसे जबरन अपनी कार में बिठाने की कोशिश की, निकिता तोमर उसकी कार में नहीं बैठी तो उसने उसे गोली मार दी. बताया जा रहा है कि एकतरफा प्यार में फेल होने पर तोसीफ ने इस दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया।

दिनदहाड़े हुई निकिता तोमर की ह्त्या के बाद पूरे देश में आक्रोश है, पीड़ित परिवार का कहना है कि हत्यारों का एनकाउंटर हो, वहीँ पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने कहा है कि निकिता के हत्यारों को ऐसा सजा मिले कि आशिक इश्क भूल जाए. आरोपी तौफीक का कांग्रेस कनेक्शन सामने आने के बाद मामला और तूल पकड़ चुका है, लोगों का कहना है कि आरोपी राजनितिक रसूख वाला है, इसलिए वो बच भी सकता है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक ( डीजीपी ) विक्रम सिंह ने कहा कि इस मामलें में कार्यवाही ऐसी होने चाहिए कि हत्यारें तबाह हो जाएँ, ये भूल जाते राजनैतिक रसूख क्या होता है, पूर्व डीजीपी ने कहा कि दिनदहाड़े सरेराह गोली मारना यह दिखाता है कि ये ( आरोपी तौफीक, रेहान ) गुंडे थे, पुलिस का इनपर अंकुश नहीं था. लेकिन अब अगर कार्यवाही नहीं होगी तो कब होगी।

आजतक चैनल पर डिबेट में बोलते हुए पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने कहा कि हरियाणा अपने आप में सक्षम है, हैदराबाद, यूपी नहीं! वो मॉडल प्रस्तुत करे, ऐसा कहर आये की आशिक इश्क भूल जाए।

आपको बता दें कि निकिता तोमर की दिनदहाड़े ह्त्या करने वाले आरोपी तौसीफ और रेवान को फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया और 2 दिन की रिमांड मांगी जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर ली।

आरोपी तौसीफ राजनितिक रसूखदार है, इसका कांग्रेस से कनेक्शन है, मिली जानकारी के मुताबिक, आरोपी तौसीफ पुत्र जाकिर पुत्र कबीर अहमद ( पूर्व विधायक ) व् तौसीफ का चचेरा भाई आफ़ताब अहमद जोकि कांग्रेस का नूंह ( मेवात ) से कांग्रेस के विधायक हैं और कांग्रेस विधायक आफताब अहमद के पिता हरियाणा के पूर्व गृहमंत्री खुर्शीद अहमद निवासी खासपुर गाँव सोहना है।