पूर्व दलित सांसद ने दिया जवाब, अरे सोनिया जी, पहले अपने पार्टी में लोकतंत्र बहाल कर लीजिए!

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को एक वीडियो जारी करके कहा कि देश का लोकतंत्र कठिन दौर से गुजर रहा है, पीड़ित परिवारों की आवाज को दबाया जा रहा है, सोनिया गांधी को जवाब देते हुए दलित नेता व् पूर्व भाजपा सांसद हरि मांझी ने कहा कि सोनिया जी पहले अपनी पार्टी में लोकतंत्र को बहाल कर लीजिए।

बिहार के गया से पूर्व भाजपा सांसद और बोधगया से पूर्व विधायक व् दलित नेता हरि मांझी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी को जवाब देते हुए कहा कि पुत्र मोह में भारत का लोकतंत्र ख़तरे में आ जाता है। पहले सोनिया जी अपने पार्टी में लोकतंत्र को बहाल कर लीजिए।

अआप्को बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि देश का लोकतंत्र खतरे में है, पार्टी नेताओं को जनता के मुद्दे पर संघर्ष करना चाहिए, सोनिया गांधी ने अपनी अध्यक्षता में हुई अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिवों और प्रदेश प्रभारियों की एक बैठक में पार्टी के नेताओं से यह अपील की।

सोनिया गाँधी ने कहा कि देश के लिये लगातार संघर्ष करना ही कांग्रेस संगठन का लक्ष्य रहा है। देश की सेवा करना ही हमारे संगठन का मूल मंत्र है। आज देश का लोकतंत्र कठिन दौर से गुजर रहा है, देश में पीड़ित परिवारों की आवाज को दबाया जा रहा है।

आपको बता दें कि कांग्रेस इस समय कृषि कानून, अर्थव्यवस्था और भारत चीन मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर है, हाथरस केस में भी कांग्रेस ने जमकर योगी सरकार पर निशाना साधा। हालाँकि लोकतंत्र की दुहाई देने वाली कांग्रेस ने बिहार विधानसभा चुनाव में जिन्ना प्रेमी और बलात्कार के आरोपियों को टिकट दिया है चुनाव लड़ने के लिए, कांग्रेस नेता कमलनाथ ने एक दलित महिला को आइटम कहा, सोनिया गांधी तब खामोश रही है, कांग्रेसियों ने देवरिया में एक महिला कांग्रेस नेता की पिटाई की तब सोनिया गाँधी को लोकतंत्र नहीं याद आया।

loading...