आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत कर रहा फ़्रांस का समर्थन, कांग्रेस करवा रही है फ़्रांस का विरोध

फ़्रांस में एक हफ्ते के भीतर अबतक 4 फ्रेंच नागरिकों की ह्त्या की जा चुकी है, एक ने पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाने पर शिक्षक का सर कलम कर दिया तो एक ने अल्लाह-हु-अकबर चिल्लाते हुए चर्च में घुसकर एक महिला का गला रेता और दो लोगों की चाकू से मारकर ह्त्या कर दी, इन दोनों घटनाओं को फ़्रांस के राष्ट्रपति इम्मैन्युअल मैक्रों ने इस्लामिक आतंकवाद करार दिया है. साथ ही उन्होंने इस्लामिक आतंकवाद के विरुद्ध जंग भी छेड़ दी है, भारत ने भी फ़्रांस का समर्थन करने का ऐलान किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर फ़्रांस में हुई वीभत्स घटनाओं की न सिर्फ निंदा की बल्कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में फ़्रांस का साथ देने का ऐलान भी किया। हालाँकि कांग्रेस पार्टी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ा, कांग्रेस के विधायक आरिफ मसूद ने हजारों मुस्लिमों के साथ फ़्रांस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

मध्यप्रदेश के भोपाल से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने भारत में रह रहे मुस्लिमों को आहत किया है, इसलिए भारत के प्रधानमंत्री को या निर्णय लेना चाहिए कि फ्रांस से अब हमें आयात-निर्यात बंद कर दिया जाए. इस दौरान इकबाल मैदान में भारी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग पहुंचे. हालाँकि आरिफ मसूद बिना बने कांग्रेस नेताओं की सहमति से विरोध प्रदर्शन नहीं कर सकते।

कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने अपने ट्विटर हैंडल से विरोध प्रदर्शन की कुछ तस्वीरों को शेयर करते हुए लिखा, फ्रांस के राष्ट्रपति द्वारा पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के बारे में अपशब्द कहे जाने को लेकर मेरे द्वारा इक़बाल मैदान में कार्यक्रम किया गया जिसमें हज़ारों की संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपना विरोध दर्ज कराया!

आपको बता दें कि फ़्रांस के खिलाफ पाकिस्तान, तुर्की और ईरान समेत कई इस्लामिक मुल्कों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है लेकिन फ़्रांस ने भी साफ़ कर दिया है कि वो इस्लामिक आतंकी हमले से डरेगा नहीं बल्कि दटककर मुकाबला और इस्लामिक आतंकवाद को जड़ से मिटा देगा।