BJP सांसद तेजस्वी सूर्या ने संभाली BJYM की कमान, जानिये इस हिंदूवादी नेता के बारें में सबकुछ

युवा भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने कल ( 19 अक्टूबर, 2020 ) को नई दिल्ली में भारतीय जनता युवा मोर्चा ( BJYM ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाल लिया। इससे पहले बीजेवाईएम की राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा सांसद पूनम महाजन थी। तेजस्वी सूर्या ने 14वें बीजेवाईएम अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया।

आपको बता दें की तेजस्वी सूर्या बेंगलुरु साऊथ से भाजपा सांसद हैं, इस सीट पर बीजेपी के दिग्गज नेता रहे अनंत कुमार ने 6 बार जीत दर्ज की थी। अनंत कुमार का देहांत हो जाने के बाद इस सीट और बीजेपी की अस्मिता के लिए एक भरोसेमंद चेहरे को चुनना बड़ी चुनौती बन गई। खैर, बीजेपी ने तमाम विश्लेषणों के बाद तेजस्वी सूर्या को इस सीट से चुनावी मैदान में उतारा और उन्होनें बड़ी मार्जिन से चुनाव जीता। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बीके हरिप्रसाद को साढ़े तीन लाख से ज्यादा वोटों से शिकस्त दी थी।

28 साल की उम्र में तेजस्वी सूर्या भाजपा के सांसद बन गए, टिकट मिलने के बाद उन्होनें ट्वीट करके कहा था कि ‘ओह माय गॉड। विश्वास ही नहीं होता। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री और सबसे बड़ी पार्टी के अध्यक्ष ने 28 साल के एक व्यक्ति को बेंगलुरू जैसी प्रतिष्ठित सीट के लिए चुना है। यह सिर्फ बीजेपी में हो सकता है।’

प्रखर राष्ट्रवादी विचारधारा से ओतप्रोत और पेशे से वकील तेजस्वी सूर्या ने बेंगलुरु के इंस्टिट्यूट ऑफ लीगल स्टडीज से पढ़ाई की है। इससे पहले वह RSS के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) से जुड़े रहे हैं। अब बीजेवाईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए हैं। तेजस्वी सूर्या अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। तेजस्वी सूर्या की पहचान एक कट्टर हिंदूवादी नेता के रूप में होती है, तेजस्वी सूर्या का नाम सुनकर वामपंथी, लिबरल खौफ खाते हैं.

तेजस्वी सूर्या के कई बयान सुर्ख़ियों में रहे, उन्होनें कहा था कि बहुसंख्यक सतर्क रहें वरना मुग़ल साशन फिर से लौट सकता है, तेजस्वी सूर्या ने ये बयान ऐसे वक्त में जब नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के खिलाफ शाहीन बाग़ में कथित धरना चल रहा था, इसके अलावा सूर्या CAA विरोधियों का मजाक उड़ाते हुए कहा था कि अनपढ़ और पंक्चर वाले इस कानून का विरोध कर रहे हैं।

loading...