परमबीर सिंह ने मुझे बेल्ट से पीटा, वो अत्याचारी व्यक्ति है, साध्वी प्रज्ञा के खुलासे से मचा हड़कंप

मध्यप्रदेश के भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने बुधवार ( 28 अक्टूबर, 2020 ) को रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को एक्सक्लूसिव इंटरव्यू दिया, इस इंटरव्यू में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे किए।

साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार एक बार 2008 में मालेगांव में साजिश कर चुकी है। मेरे ऊपर महाराष्ट्र में ही एक ऐसा केस लगाया जो बहुत गलत था। जिसके लिए मैं विशेष रूप से ATS के अधिकारी पर दोष देती हूं। उन्होंने षड्यंत्र करके मुझे फंसाया। आज भी वो अधिकारी लोगों को फंसा रहे हैं।

साध्वी प्रज्ञा ने कहा, मेरे ऊपर फर्जी केस लगाया गया। महाराष्ट्र ATS ने वर्दी का दुरुपयोग किया। ये देशद्रोही केस था, मुझे मालेगांव मामले में मास्टरमाइंड बनाया गया।

साध्वी प्रज्ञा ने कहा, परमबीर सिंह अत्याचारी और निम्न स्तर का व्यक्ति है। गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त है। इस व्यक्ति ने मुझे जेल में डाल करके, जिन्हें पिटने का अधिकार नहीं होता है उसने इतनी भयानक यातनाएं दी जो किसी अन्य महिला को नहीं दी गई होगी। परमबीर ने मुझे बेल्ट से पीटा, उन्होंने मुझे गालियां देकर पीटा। परमबीर को राक्षस कहना भी कम है। इनका षड्यंत्र था, हमें सालों साल जेल में रखा जाए। ऐसे अफसर राजनीतिक तौर पर चलते हैं। कांग्रेस परमबीर जैसे लोगों को पालती है।

साध्वी ने आगे कहा, ‘हेमंत करकरे और परमबीर ने बहुत यातनाएं दी। टॉर्चर परमबीर ने खुद किया, मैं वो जिंदगी में नहीं भूल सकती। मैं जब काला चौकी में थी, रात 10 बजे से ही ये लोग प्रताड़ित करना शुरू कर देते थे। परमबीर वहां पर खड़े थे, 7-8 लोगों ने सर्कल करके मुझे पीटा। मुझे पैरों के तलों में बेल्ट से मारा जाता था। मकोका लगाकर फंसाने की साजिश रची गई थी। षड्यंत्र करना उसकी आदत है। हाईकोर्ट ने उसे नहीं माना। 9 साल तक जेल में रखा। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि मकोका नहीं लगता। कोर्ट में षड्यंत्र फेल हुआ। ये राजनीतिक आधार पर चलते हैं। ऐसे लोगों को ये पालते है ताकि षड्यंत्र रची जा सके।

इनपुट – रिपब्लिक टीवी