खतरे में त्रिपुरा की भाजपा सरकार, CM बिप्लब देब से बगावत कर दिल्ली पहुंचे BJP विधायक!

त्रिपुरा की भाजपा सरकार खतरे में नजर आ रही है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि मुख्यमंत्री बिप्लब देब से बगावत करके कई भाजपा विधायक दिल्ली आ गए हैं। बीजेपी विधायकों ने आरोप लगाया है कि बिप्लब देब में अनुभव की कमी और लोकप्रियता में अभाव है और तानाशाही चरम पर है, अलबत्ता इनकी वजह से पार्टी को नुक्सान हो इससे पहले इन्हें मुख्यमंत्री पद से हटा देना चाहिए। मुख्यमंत्री को हटाने की मांग लेकर सात विधायक राजधानी दिल्ली पहुंचे हैं और राष्ट्रीय नेतृत्व से मुलाकात करना चाहते हैं।

भाजपा विधायक सुदीप रॉय बर्मन की अगुआई में दिल्ली आए सात विधायकों का दावा है कि कम से कम दो और विधायक उनके साथ हैं। त्रिपुरा विधानसभा की कुल 60 सीटों में 36 विधायक बीजेपी के हैं। आईपीएफटी के 8 एमएलए भी बीजेपी सरकार को समर्थन दे रहे हैं।

बर्मन के अलावा दिल्ली में जो विधायक कैंप कर रहे हैं वे हैं, सुशांता चौधरी, आशीष शाहा, आशीष दास, दिवा चंद्र रनखल , बर्ब मोहन त्रिपुरा, परिमल देब बर्मा और राम प्रसाद पल। चौधरी ने कहा है कि बिरेंद्र किशोर देब बर्मन और बिप्लब घोष भी उनके साथ हैं। लेकिन ये कोरोना संक्रमित होने की वजह से दिल्ली नहीं आ पाए हैं। हालाँकि त्रिपुरा बीजेपी प्रेजिडेंट मानिक शाह ने कहा कि सरकार पूरी तरह सुरक्षित है।