पंजाब: शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह का मर्डर, कुछ दिन पहले CM अमरिंदर ने वापस ले ली थी सुरक्षा

पंजाब के तरनतारन में शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह की गोली मारकर ह्त्या कर दी गई, शुक्रवार को कुछ अज्ञात लोगों ने बलबिंदर सिंह को तरनतारन के भिखीविंड में स्थित उनके निवास पर गोली मार कर हत्या कर दी। श्री सिंह की पत्नी जगदीप कौर ने बताया कि सुबह करीब 7:00 बजे कुछ अज्ञात लोग उसके घर में घुसे और बलविंदर सिंह पर गोलियां चलाना शुरू कर दिया जिससे उनकी मौत हो गयी।

बलबिंदर सिंह के भाई रंजीत सिंह ने दावा किया है कि हमले के पीछे आतंकवादी हो सकते हैं , हालांकि पुलिस ने अभी पक्के तौर पर ऐसा कुछ नहीं कहा है। मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासन के अधिकारी आवश्यक जांच कर रहे हैं। जानकारी के अनुसार, हाल ही पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने बलबिंदर की सुरक्षा वापस ले ली थी, जिसका जमकर विरोध भी हुआ था, सुरक्षा वापस लिए जाने के बाद बलबिंदर की ह्त्या कर दी गई।

पंजाब में बहादुरी के साथ आतंकवादियों का मुकाबला करने के लिए बलविंदर सिंह तथा उनके पूरे परिवार को साल 1993 में राष्ट्रपति शंकरदयाल शर्मा द्वारा शौर्यचक्र से सम्मानित किया था। राज्य में आंतकवाद दौरान बलविंदर सिंह का आंतकवादियों के साथ 13 बार मुकाबला हुआ था। उन्होने तथा उनके परिवार ने बड़ी बहादुरी से आंतकबादियों को परास्त किया था, उनकी बहादुरी को देखते हुए राष्ट्रपति ने उन्हे शौर्यचक्र से सम्मानित किया था