संजय सिंह और अमानतुल्लाह ने दलितों के धर्मांतरण की झूठी खबर फैलाने के लिए दिए 10 लाख, BJP MLA का खुलासा

बुधवार ( 21 अक्टूबर, 2020 ) को मीडिया में खबर आई कि लगभग 50 बाल्मीकि परिवारों ने धर्म परिवर्तन कर लिया, हाथरस की घटना से नाराज होकर धर्म बदलने का फैसला किया, चूँकि हाथरस का पीड़ित परिवार भी वाल्मीकि ( दलित ) है। मीडिया के मुताबिक, गाजियाबाद के करहेड़ा में दलितों ने धर्म परिवर्तन किया है। हालाँकि अब गाजियाबाद के लोनी से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने इसे झूठा बताया है और उन्होनें की चौकाने वाले खुलासे भी किये हैं।

करहेड़ा धर्मांतरण वाली घटना को लेकर गाजियाबाद (लोनी) के विधायक नन्द किशोर गुर्जर ने बड़े खुलासे वाले दावे किए हैं। विधायक ने घटना को एक सोची समझी रणनीति बताकर इसपर जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित उत्तरप्रदेश के राज्यपाल व प्रमुख गृह सचिव उत्तरप्रदेश सरकार को पत्र लिखा है।

विधायक नंदकिशोर गुर्जर के पत्र के मुताबिक़, CAA एन्टी-हिन्दू दंगा, हाथरस में विफल होने के बाद करहैड़ा में फ़र्ज़ी धर्म बदलने की घटना से UP समेत पूरे देश को जातीय दंगों में झोंकने के लिए साजिश रचा जा रहा है जिसमें ISI,आतंकी दाऊदइब्राहिम आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल, संजय सिंह और अमानतुल्लाह खान शामिल हैं।

Image

आम आदमी पार्टी को दिल्ली विधानसभा के दौरान भी फंडिंग दाऊद ने अमानतुल्लाह खान के माध्यम से की। पूरे देश की अर्थव्यवस्था को नुकसान इन्हीं गठजोड़ के माध्यम से पूरे देश में मरकज से कॉरोना फैलाकर किया गया। मौ. साद को भी केजरीवाल ने अपने घर में इस दौरान दिल्ली पुलिस से छुपाकर
रखा।

विधायक ने अपने पत्र में लिखा, करहैड़ा के लिए पवन नाम के व्यक्ति को होटल में घटना को अंजाम देने के लिए 10लाख अन्य को 2-2 लाख दिए। कुछ राष्ट्रविरोधी पत्रकारों को भी पैसा गया। वाल्मीकिसमाज सनातन धर्म की रीढ़ है जिन्होंने मैलाढोना स्वीकार किया लेकिन मुग़लों के डर से धर्मपरिवर्तन नहीं किया।यह मामला झूठ है।

भारत में ऐसी कई घटनाओं को भविष्य में उपरोक्त गठजोड़ द्वारा अंजाम दिया जाएगा जिससे देश को अस्थिर किया जा सकें और जातीय दंगे करवाकर उसपर यह गिध्द राजनीति कर सकें। महामहिम जी दिल्ली सरकार को बर्खास्त कर इन्हें जेल भेजकर पूछताछ की जाए जिससे देश सुरक्षित रहें।

loading...