महबूबा मुफ्ती के देशविरोधी बयान से नाराज होकर कई PDP नेताओं ने दिया इस्तीफा, कह दी बड़ी बात

पीडीपी अध्यक्ष और जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती का तिरंगे को लेकर बयान देना भारी पड़ गया है। सोमवार को महबूबा मुफ्ती के बयान से नाराज पीडीपी के तीन नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। पीडीपी से इस्तीफा देने वाले तीन नेताओं टी.एस. बाजवा, वेद महाजन और हुसैन ए वफ़ा ने पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को पत्र भी लिखा है, जिसमें नेताओं ने उनके बयान पर नाराजगी जताई है।

आपको बता दें कि महबूबा मुफ्ती ने बीते दिनों बयान दिया था कि जब तक घाटी में आर्टिकल 370 के निरस्त प्रावधान दोबारा लागू नहीं हो जाते, वह कोई भी झंडा नहीं थामेंगी। पीडीपी नेताओं ने इसे देशविरोधी बयान मानते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को लिखे पत्र में टी.एस. बाजवा, वेद महाजन और हुसैन ए वफ़ा ने कहा कि वे उनके कुछ कामों और बयानों, विशेष रूप से जो देशभक्ति की भावनाओं को आहत करते हैं की वजह से असहज महसूस कर रहे हैं।’ ऐसे स्थिति में उनका पार्टी में बने रहना मुश्किल है। इस कारण वे सब पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं।

महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि जिन्होंने हमसे हमारा हक छीना है, उन्हें हमारा हक लौटाना है। मैं अपने लोगों को जम्मू कश्मीर की अवाम को इसका यकीन दिलाती हूं। महबूबा मुफ्ती ने इस दौरान चुनावी सियासत से दूर रहने का एलान करते हुए कहा कि जब तक हमें हमारा संविधान और झंडा नहीं लौटाया जाएगा, हम किसी भी चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगे।