बड़ी खबर: मुख़्तार अंसारी को पंजाब जेल से सड़क के रास्ते लखनऊ लाना चाहती है UP पुलिस

बलात्कारियों, अपराधियों और अवैध जमीन कब्जाने वालों के खिलाफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है। बड़े से बड़े अपराधियों पर उत्तर प्रदेश पुलिस कहर बनकर टूट रही है, इसी बीच एक बड़ी जानकारी सामने आई है, जानकारी यह है कि कुख्यात अपराधी मुख़्तार अंसारी को यूपी पुलिस वापस राज्य में लाना चाहती है, मुख़्तार अंसारी इस समय पंजाब की एक जेल में बंद है.

दरअसल मऊ पुलिस ने मुख्तार अंसारी के विरुद्ध कोर्ट से वारंट बी हासिल कर लिया है। यह वारंट अंसारी द्वारा कूटरचित दस्तावेज तैयार कर शस्त्र लाइसेंस प्राप्त करने के मामले में पुलिस को मिला है। वारंट बी हासिल कर स्थानीय मौ पुलिस अब उसे पंजाब से यूपी लाने के लिए होने वाली आवश्यक अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है। दिलचस्प बात यह है कि यूपी पुलिस मुख़्तार अंसारी को किसी चार्टर्ड प्लेन से नहीं बल्कि सड़क के रास्ते ले आएगी। संभवतः TUV या टोयोटा से ले आएगी।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने और योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर विराजमान होने के बाद आगरा जेल में बंद मुख़्तार अंसारी ने पंजाब के व्यवसायी को धमकी देने के मामले में जमानत तोड़वाकर अपना तबादला पंजाब की जेल में करा लिया। इन दिनों वह रूपनगर मोहाली की जेल में बंद हैं।

मुख़्तार अंसारी एक कुख्यात अपराधी है, यूपी में अपराध की दुनिया में मुख्तार अंसारी एक बड़ा नाम है। मुख़्तार अंसारी पिछले 15 सालों से जेल में बंद है। उस पर मर्डर, किडनैपिंग और एक्सटॉर्शन जैसे मामलों में 40 से ज्यादा केस उसके खिलाफ दर्ज हैं। हैरानी की बात यह है कि कुख्यात अपराधी मुख़्तार अंसारी लगातार पांच बार विधायक भी बन चुका है। 2005 में भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या से भी मुख़्तार अंसारी का नाम जुड़ा था।

loading...