आशिक के साथ रंगरलियां मनाने के लिए महिला ने अपने पति शादाब को बेहोश कर गुप्तांग पर डाला तेज़ाब

तस्वीर साभार - एनबीटी

आशिक के साथ रंगरलियां मनाने के लिए एक मुस्लिम महिला ने ऐसा खतरनाक कदम उठा लिया, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती हैं, जी हाँ! प्रेमी के चक्कर में महिला ने अपने पति और बच्चों को पहले नशीली दवा देकर बेहोश किया उसके बाद पति के गुप्तांगो पर टॉयलेट क्लीनर यानि तेज़ाब डालकर जला डाला। वहीं क्षेत्रवासियों ने उस महिला को एक अन्य व्यक्ति के साथ आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ लिया।ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश में मेरठ के टीपे नगर थाना क्षेत्र का है।

अस्पताल में होश आने के बाद आरोपी मुस्लिम महिला के पति शादाब ने आरोप लगाया कि वो आए दिन उन लोगों को नशीली गोलियाँ देकर अपने प्रेमी के साथ मिलती थी। पति ने कहा कि उसके गुप्तांग पर हार्पिक डाल कर उसे जला दिया, जिससे वो ‘बर्बाद’ हो गया है। पुलिस इस मामले की जाँच कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शादाब ने बताया कि डॉक्टर वसीम उसका परिचित है, जो आए दिन उसके घर आता-जाता रहता है। वसीम जब भी आता था तो साथ में अपने साथ बिरयानी और मिठाई लाता था। इसे खाने के बाद शादाब और उसकी तीनों बेटियाँ बेसुध होकर सो जाया करते थे। उसने आरोप लगाया कि इसके बाद मेरी बीबी और डॉक्टर वसीम घर में बेफिक्र होकर रंगरेलियाँ मनाते थे।

शुक्रवार 25 सितम्बर को ग्रामीणों ने डाक्टर वासिम को रात को शादाब के घर में घुसते हुए देखा तो उन्होंने उसे चोर समझ लिया जिसके बाद शोर मचा तो लोगो ने डाक्टर वासिम को दबोच लिया उसके बाद पोल खुल गयी।

दरअसल आरोपी महिला ने ही डाक्टर वासिम को बुलाया था, अपने शौहर शादाब और बच्चों को खाने में नशीली दवाई मिलकर खिलाकर बेहोश कर दिया था और एक कमरे में बंद कर दिया था, ये सब इसलिए किया ताकि बेफिक्र होकर रंगरलियां मना सकें और कोई बाधा न बन सके।

पति शादाब को बेहोश करने के बाद उसकी पत्नी उसके गुप्तांग पर हार्पिक जैसी कोई चीज डाला करती थी। जिससे उसके गुप्तांग पर बड़े-बड़े जख्म हो गए थे। वह इसका त्वचा रोग समझ कर इलाज करा रहा था। उसने पूरे मामले का खुलासा होने के बाद थाने में अपनी बीवी के खिलाफ तहरीर दी है। आरोपित महिला को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। आगे की कार्यवाही जारी है।

loading...