अर्नब गोस्वामी ने किया सुशांत-दिशा मामलें में खनन तो उद्धव बोले, तुमने किया हमारे विशेषाधिकार हनन

मुंबई, 17 सितंबर: रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क और उसके सम्पादक अर्नब गोस्वामी सुशांत सिंह राजपूत की मौत मौत और दिशा सालियान की मौत के बारें में रोजाना नए-नए खुलासे कर रहे हैं, जिसकी वजह से मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार दोनों बैकफुट पर आ गये हैं. रिपब्लिक कई महीनों से सुशांत और दिशा को इन्साफ दिलाने की मुहिम चला रहा रहा है, जनता का भी भरपूर समर्थन मिल रहा है, हालाँकि रिपब्लिक की ये मुहिम महाराष्ट्र की उद्धव सरकार को रास नहीं आ रही है।

उद्धव ठाकरे सरकार रिपब्लिक और अर्नब को डराने के लिए तमाम हथकंडे अपना रही है, कभी रिपब्लिक के पत्रकार को बेवजह गिरफ्तार कर लिया जाता है तो कभी शिवसेना केबल ऑपरेटरों को राज्य में रिपब्लिक भारत बैन करने की धमकी देता है. हालाँकि इसके बावजूद भी रिपब्लिक और अर्नब मोर्चा संभाले हुए हैं।

अब उद्धव सरकार ने रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के संम्पादक अर्नब गोस्वामी को विशेषाधिकार हनन का नोटिस भेजा है,अर्नब ने कहा है कि मैं इन सबसे डरने वाला नहीं हूँ, सुशांत और दिशा मामलें में सच्चाई दिखाता रहूंगा। गौरतलब है कि मुंबई पुलिस से ज्यादा रिपब्लिक ने सुशांत मामलें में इन्वेस्टिगेशन की है।

महाराष्ट्र सरकार रिपब्लिक और अर्नब से उसी समय से चिढ रही है जब पालघर हिन्दू संतों की ह्त्या का मुद्दा उठाया था, इस मामलें में भी महाराष्ट्र सरकार बैकफुट पर आ गई थी, अब सुशांत मामलें में बैकफुट पर है, अर्नब का कहना है कि हत्या का जो एंगल CBI को पता चल रहा है, उसे महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस ने क्यों छिपाया? आखिर सरकार किसको बचाना चाह रही है।

गौरतलब है कि हाल ही में मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक के रिपोर्टर अनुज, वीडियो जर्नलिस्ट यशपालजीत सिंह और ओला कैब ड्राइवर प्रदीप दिलीप धनावड़े गिरफ्तार कर लिया था और 136 घंटे जेल में रखा था, कोर्ट से जमानत मिलने के बाद सभी रिहा हुए।

loading...