अब लोकतान्त्रिक देश बनेगा सूडान, 30 साल का इस्लामी और शरिया शासन हुआ समाप्त

तस्वीर साभार - रायटर्स

उत्तरी अफ्रीका में सूडान नामक एक देश था जो इस्लामिक मुल्क था, लेकिन सूडान की सरकार ने इस्लामी शासन को खत्म करते हुए धर्म को अलग करने की बात सहमति व्यक्त की है। बता दें कि सूडान 30 साल पहले इस्लामिक मुल्क घोषित किया गया था।

सूडान के प्रधानमंत्री अबदुल्ला हमदोक और सूडान पीपुल्स लिबरेशन मूवमेंट-नॉर्थ विद्रोही समूह के नेता अब्दुल-अजीज अल हिलु ने घोषणापत्र पर हस्ताक्षर किए।

गुरुवार को इथियोपिया की राजधानी अदीस अबाबा में सिद्धांत को अपनाने के लिए इन दोनों ने इस घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए। घोषणा पत्र में लिखा है कि सूडान के लोकतांत्रिक देश बनने के लिए, जहां सभी नागरिकों के अधिकारी निहित हैं, यहां संविधान धर्म और राज्य के अलगाव के सिद्धांत पर आधारित होना चाहिए। इसके अभाव में आत्मनिर्णय के अधिकार का सम्मान करना चाहिए।

30 साल पहले सूडान के संविधान में इस्लाम को स्टेट रिलिजन घोषित कर दिया गया था और सूडान में शरिया लागू हो गया था, कानून इस्लाम के ही आधार पर बने थे, 30 सालों से सूडान में आतंकवाद का राज रहा, बलात्कार हुए, आतंकवादी संगठन पनपते रहे, जिससे जनता तंग आ गई थी, सूडान की सरकार ने जनता के दबाव में अब इस्लाम को संविधान से अलग कर दिया है, यानि अब सूडान इस्लामिक राष्ट्र नहीं रहेगा, और सूडान में शरिया भी नहीं चलेगा।