गुड़ न्यूज़: भारत को कोरोना वैक्सीन देगा रूस, पहली खेप में आएगा 100 मिलियन डोज

पिछले कई महीनों देश-दुनिया में चीनी कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है, दुनियाभर में 30,030,911 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं जबकि इस खतरनाक महामारी से अबतक 945,051 लोगों की मौत हो चुकी है।

भारत समेत दुनिया के कई सक्षम देश कोरोना की वैक्सीन पर काम कर रहे हैं, करोडो भारतीयों को चीनी वायरस कोरोना की वैक्सीन का बेसब्री से इंतज़ार है, पूरी दुनिया को पछाड़ते हुए रूस सबसे आगे निकल गया है। दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन बना ली है, पहला खुराक भी रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन की बेटी को दिया गया था।

रसिया द्वारा बनाई गई इस वैक्सीन का नाम स्पुतनिक-5 रखा गया है, राष्ट्रपति पुतिन भी इस वैक्सीन का डोज ले चुके है और रूस में ये वैक्सीन अब लोगो को लगाई जा रही है और चीनी कोरोना वायरस धीरे-धीरे ख़त्म हो रहा है. रूस भारत को भी वैक्सीन की आपूर्ति करेगा।

भारत की सबसे बड़ी दवा कंपनियों में से एक डाक्टर रेड्डी ने रूस के साथ करार कर लिया है, रूस अपनी कोरोना की वैक्सीन डाक्टर रेड्डी कंपनी को देगा और डाक्टर रेड्डी इस वैक्सीन को भारत में बेचेगा। पहली खेप में रूस डॉक्टर रेड्डी को 100 मिलियन यानी 10 डोज देगा, हालाँकि ये वैक्सीन भारत में तबतक नहीं बिकेंगी जबतक भारत सरकार अप्रूवल नहीं देगी।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के मामलें में रूस चौथे नंबर पर है, रूस में अबतक 1,079,519 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, इनमें से 890,114 लोग रिकवर हो चुके हैं जबकि इस खतरनाक कोरोना वायरस से अबतक 18,917 लोगों की जान जा चुकी है। बात करें भारत की तो यहाँ अबतक 5,115,893 लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 4,022,049 लोग रिकवर हो चुके हैं. अबतक 83,230 लोगों की मौत हो चुके है. राहत की बात यह है कि भारत में रिकवरी रेट बहुत बढ़िया है. आईसीएएमआर के मुताबिक, भारत में रिकवरी रेट 78 फीसदी से ज्यादा है।

loading...