NIA स्पेशल कोर्ट ने ISIS आतंकी मोईदीन को सुनाई उम्रकैद की सजा, RSS नेता की हत्या करने की साजिश रचा था

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी ( NIA ) की स्पेशल कोर्ट ने ISIS के आतंकवादी सुबाहनी हाजा मोईदीन को उम्रकैद की सजा सुनाई है, 25 सितंबर को कोर्ट ने आरोपी को दोषी करार दिया था। आतंकी हाजा मोईदीन देश के कई बड़े शहरों में घूमकर आरएसएस नेताओं की ह्त्या और भारत में कत्लेआम मचाना चाहता था, इसके लिए बाकायदा ईराक-सीरिया से ट्रेनिंग लेकर आया था.

आपको बता दें ISIS के आतंकवादी सुबाहनी हाजा मोईदीन को NIA ने 5 अक्टूबर 2016 को तमिलनाडु से गिरफ्तार किया था, आतंकी मूल रूप से केरल के इदुक्की का रहने वाला है। NIA ने ISIS आतंकी को तमिलनाडु के तिरूनेलवेली से उस समय पकड़ा था जब वह दक्षिण भारत के तमिलनाडु और केरल में आइएसके नए मॉड्यूल के साथ हमले करने की साजिश रच रहा था।

मोईदीन 2015 की शुरूआत में इंटरनेट के जरिए ISIS की तरफ आकर्षित हुआ। उस समय आतंकी ने NIA के सामने कबूल किया था कि 8 अप्रैल, 2015 को उसने आइएस की तरफ से लड़ने के लिए घर छोड़ दिया। उसने अपनी पत्नी और मां बाप को बताया कि मैं उमराह के लिए जा रहा हूं। उसके बाद मोईदीन आइएस के हैंडलर्स द्वारा बताए गए पते के अनुसार इस्तांबुल होते हुए ईराक पहुंच गया।

इस्तांबुल से वह पाकिस्तानी और अफगानिस्तानी लड़ाकों के साथ ईराक पहुंचा। 5 महीने ईराक और सीरिया में रहने के बाद मोईदीन को आइएसकी मिलट्री यूनिट द्वारा शरिया में 3 महीने की ट्रेनिंग दी गयी।

मोईदीन ने जांच अधिकारियों को बताया, मुझे 30-35 रंगरूटों के साथ ट्रेनिंग दी गयी, ट्रेनिंग के दौरान हम एक छोटे से कमरे में रहते थे। और सुबह से लेकर शाम तक हमें ट्रेनिंग दी जाती थी।

एनआइए के अनुसार, मोईदीन एक ज्वेलर्स की दूकान पर नौकरी करने लगा, इसी दौरान चेन्नई, कोयंबटूर, और अन्य जगहों का दौरा किया और अपनी विस्फोट करने की योजना को लेकर स्थानीय नागरिकों से बात की। मोईदीन केरल हाइकोर्ट के पूर्व जज और आरएसएस के नेताओं को मारना चाहता था। लेकिन उससे पहले NIA ने गिरफ्तार कर लिया और अब उम्रकैद की सजा सुना दी।

loading...