क्या आरजेडी नेता के रूप में नहीं मरना चाहते थे रघुवंश प्रसाद, मौत से 3 दिन पहले,..?

राष्ट्रीय जनता दल ( आरजेडी ) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का आज निधन हो गया, वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे। दिल्ली एम्स में आज उन्होंने अंतिम सांस ली। तीन दिन पहले उन्‍होंने राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से इस्‍तीफा भी दे दिया था।

रघुवंश प्रसाद ने जब इस्तीफा दिया था तब वह वेंटिलेटर पे थे यानि गंभीर स्थिति में, कहा जा रहा है कि रघुवंश प्रसाद आरजेडी नेता के रूप में नहीं मरना चाहते थे, इसलिए उन्होनें इस्तीफ़ा दे दिया। क्योंकि जब कोई गंभीर स्थिति में होता है तब उसे अपने स्वास्थ्य की चिंता होती है लेकिन रघुवंश को शायद अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ राजनीति की भी चिंता थी इसीलिए उन्होंने वेंटिलेटर पर रहते हुए इस्तीफ़ा पत्र दिया।

आज देर शाम तक रघुवंश प्रसाद का शव बिहार ले जाया जाएगा और कल अंतिम संस्कार होगा। पीएम मोदी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, आरजडी चीफ लालू प्रसाद यादव सहित कई बड़े नेताओं ने रघुवंश प्रसाद के निधन पर शोक जताया।