नंबर-1 पर रिपब्लिक भारत की बादशाहत बरकरार, NDTV अंडर-10 से भी बाहर, बहुत बुरी हालत हो गई है NDTV की!

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के हिंदी न्यूज़ चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ की बादशाहत नंबर-1 पर बरकरार है, आज ( गुरुवार 24, सितंबर 2020 ) को न्यूज़ चैनलों की रेटिंग आई जिसमें रिपब्लिक भारत पहले स्थान पर बरक़रार रहा जबकि एनडीटीवी अंडर-10 में भी जगह नहीं बना पाया है।

एनडीटीवी की घटती टीआरपी से साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि एनडीटीवी के बहुत बुरे दिन चल रहे हैं, ऐसा लगता है कि एनडीटीवी को अब मात्र गिने-चुने लोग ही देखते हैं, अब यह भी साफ़ हो गया है कि एनडीटीवी के स्टूडियों में बैठकर टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन करने वाले, दिल्ली दंगे के आरोपियों को बचाने की असफल कोशिश करने वाले, भारतीय सेना का सम्मान न करने वाले रविश कुमार को कोई नहीं देखता है, रविश कुमार खुद को निष्पक्ष पत्रकार भी कहते हैं, अन्य पत्रकारों को गोदी पत्रकार कहते हैं लेकिन रवीश कुमार कितने निष्पक्ष हैं, इसका फैसला दर्शक कर चुके हैं, अगर रवीश कुमार निष्पक्ष होते हैं तो जिस चैनल ( एनडीटीवी ) में बतौर एंकर वो काम करते हैं वो 12 वें स्थान पर न होता।

आपको बता दें कि आजतक न्यूज़ चैनल दशकों से एक नंबर पर था, लेकिन पिछले कई हफ़्तों से आजतक को पछाड़कर रिपब्लिक भारत देश का नंबर-1 न्यूज़ चैनल बन गया है, BARC ने जो रेटिंग जारी की है, उसके मुताबिक़।

1 Republic Bharat-20.9
2 Aaj Tak-14.7
3 TV9 Bharatvarsh-11.1
4 India TV-10.8
5 News18 India-8.8
6 Zee News-8.4
7 ABP News-6.8
8 News Nation-6.0
9 News 24-3.3
10 Tez-3.2
11 Zee Hindustan-2.3
12 NDTV India-2.0

आपको बता दें कि वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी के नेतृत्व में रिपब्लिक भारत न्यूज़ चैनल 2 फ़रवरी 2019 को लॉन्च हुआ था और लॉन्च होने के महज 18 महीने के भीतर बड़े-बड़े चैनलों को पछाड़कर देश का नंबर-1 न्यूज़ चैनल बन गया जबकि एनडीटीवी पिछले कई वर्षों से चल रहा है लेकिन 12 वे स्थान पर है, इससे साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि एनडीटीवी को बहुत कम लोग देखते हैं, इसलिए एनडीटीवी अंडर-10 में भी जगह नहीं बना पाया है। अगर ऐसा ही चलता रहा तो जल्द ही वो दिन दूर नहीं जब एनडीटीवी के दफ्तर में ताला लटका नजर आएगा।

loading...