राम मंदिर मिशन पूरा: अब काशी-मथुरा मिशन पर लगेंगे संत

साभार - NBT

बाबरी विध्वंस केस में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए सभी लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया, इसके साथ ही राम मंदिर का मिशन भी पूरा हो गया। क्योंकि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है और आज बाबरी विध्वंस केस का भी भी फैसला आ गया।

राम मंदिर मिशन पूरा होने के अब संत-महात्मा काशी और मथुरा मिशन पर लगेंगें, आपको बता दें कि जैसे अयोध्या का मामला है ठीक वैसे ही काशी और मथुरा का भी मामला है। जानकारों को कहना है कि वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर में ज्ञानवापी मस्जिद द्वारा आंशिक रूप से अतिक्रमण किया गया है। इस स्थान पर स्थित मूल काशी विश्वनाथ मंदिर को नष्ट करके औरंगजेब द्वारा 1669 में मस्जिद का निर्माण किया गया था। ठीक ऐसे मथुरा का भी है।

रामलला के बाद ‘श्रीकृष्ण विराजमान’ भी न्याय के लिए अदालत पहुंच गए हैं। श्रीकृष्ण विराजमान’ और ‘स्थान श्रीकृष्ण जन्मभूमि’ के नाम से मथुरा के सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में याचिका दायर की गई है, जिसमें 1968 के श्रीकृष्ण जन्मभूमि व मसजिद के बीच समझौते को अमान्य करार देने की मांग करते हुए 13.37 एकड़ की श्रीकृष्ण जन्मभूमि (मसजिद सहित) पर मालिकाना हक मांगा गया है।

loading...