राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश सिंह ने दिखाई दरियादिली, धरने पर बैठे सस्पेंडेड सासंदों को पिलाई चाय

नई दिल्ली, 22 सितंबर: राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने एक बार फिर दरियादिली दिखाई है, दरअसल रविवार को कृषि विधेयक पर चर्चा के दौरान विपक्षी सांसदों ने सदन में जमकर गुंडागर्दी कि, उपसभापति का माइक तोड़ दिया, रूल बुक फाड़ और मार्शल पर मुक्कों से हमला किया। इसके बाद सभापति वेंकैया नायडू ने आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह समेत 8 सांसदों को संस्पेंड कर दिया।

इसी के विरोध में सस्पेंड किये आठों सांसद रातभर गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठे रहे। सोमवार दोपहर से धरना दे रहे सांसदों से मिलने मंगलवार सुबह खुद डिप्‍टी चेयरमैन हरिवंश पहुंच गए। वह अपने साथ एक झोला लाए थे जिसमें सांसदों के लिए चाय थी। हरिवंश ने अपने हाथों से चाय निकाली और सांसदों को पिलाई। उन्‍होंने उन सांसदों से बेहद गर्मजोशी से बात की, जिनमें से कुछ का व्‍यवहार रविवार को उनके प्रति ठीक नहीं था।

हाथ सांसदों को एक हफ्ते तक सस्पेंड करते हुए सभापति वेंकैया नायडू ने सोमवार को कहा कि यह (रविवार) राज्यसभा के लिए सबसे खराब दिन था। उपसभापति हरिवंश को धमकी दी गई। उन्होंने कहा, इससे मुझे बहुत दुख पहुंचा है, क्योंकि सदन में कल जो हुआ, वह दुर्भाग्यपूर्ण, अस्वीकार्य और निंदनीय है।

सस्पेंड किये गए सासंदों में आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह, तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओब्रायन और डोला सेना। कांग्रेस सांसद राजीव सातव, रिपुण बोरा और सैयद नासिर हुसैन, सीपीएम सांसद एलराम करीम व् एक अन्य सी.पी.एम. सांसद शामिल हैं। सभी सांसदों को एक सप्ताह के लिए निलंबित किया गया गया है, एक सप्ताह तक अब सदन की कार्यवाही में हिस्सा नहीं ले पायेंगें।

loading...