किसान बिल का विरोध कराने के लिए कांग्रेस और सपा ने किराये पर लाये थे प्रदर्शनकारी, खुल गई पोल

किसान बिल के विरोध में कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियों ने शुक्रवार ( 25 सितंबर, 2020 ) को भारत बंद बुलाया था, कांग्रेस ने दावा किया था कि किसान बिल के विरोध में किसान सड़कों पर उतरेंगें, मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला-बोल करेंगें। हालाँकि कांग्रेस के सभी दावे न सिर्फ हवा-हवाई साबित हुए बल्कि पूरी तरह फ़्लॉप हो गया।

एक्का-दुक्का को छोड़कर किसान बिल के विरोध में कोई भी किसान सड़क पर उतरने को तैयार नहीं था, भारत बंद कार्यक्रम को फ्लॉप देखते हुए कांग्रेस और सपा ने किराये देकर प्रदर्शनकारी लाये और उन्हें किसान बना दिया, नकली किसान बने प्रदर्शनकारियों ने ही किसान बिल का विरोध कर रही राजनैतिक पार्टियों की पोल खोल दी।

दरअसल कांग्रेस ने 25 सितंबर, 2020 को कृषि बिल के विरोध में विरोध प्रदर्शन की घोषणा की थी, पहले तो यह जान लें कि जो प्रदर्शनकारी किसान बिल का विरोध करने आये थे वास्तव में वे किसान थे ही नहीं। इसके अलावा इन प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व करने वालों को भी किसान बिल के बारें में कोई जानकारी नहीं थी, बेंगलुरु में प्रदर्शन हो रहा था किसान बिल का और प्रदर्शनकारियों के हाथ में जो तख्तियां थी उसमें क्लाइमेट जस्टिस लिखा था, इन प्रदर्शनकारियों को ये भी नहीं पता था कि वो किसका विरोध करने आये हैं।

इसी तरह यूपी के बलिया में समाजवादी पार्टी के कार्यकार्ताओं और भाड़े पर लाये गए प्रदर्शनकारीयों ने किसान बिल के विरोध में जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया और ज्ञापन सौंपा। इसके बाद पत्रकारों ने किसान बिल का विरोध कर रहे सपाइयों से पूछा कि इस कानून में ऐसा क्या है जिससे किसानों को नुकसान होगा।

इस सवाल का जवाब देते हुए सपा जिलाध्यक्ष राजमंगल यादव ने कहा कि इस कानून से सीधे-सीधे हमारी खेती चौपट हो जायेगी। अन्य बिचौलियों को लाभ होगा। किसान बिल्कुल टूट जायेंगें। आपको बता दें कि किसान बिल असल में बिचौलियों को ख़त्म करने के लिए है लेकिन सपा नेता कह रहे हैं कि इससे बिचौलियों को फायदा होगा।

इसी तरह हरियाणा के कैथल में प्रदर्शन करने आये लोगों का कहना था कि हमें इस कानून के बारें में कोई जानकारी नहीं है, बस इतना जानते हैं कि ये किसान विरोधी है. अब सवाल यह उठता है कि जब इन प्रदर्शनकारियों को किसान कानून के बारें में कोई जानकारी ही नहीं है तो विरोध किस चीज का कर रहे हैं. ऊपर आप वीडियो देख सकते हैं।

loading...