कांग्रेसी नहीं आ रहे संसद, मोदी सरकार धड़ाधड़ पास कर रही बिल

नई दिल्ली, 23 सितंबर: कोरोना वायरस महामारी से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन करते हुए सोमवार ( 14 सितंबर, 2020 ) को संसद के मानसून सत्र का आगाज हुआ. कोविड-19 के प्रकोप का असर सदन की कार्यवाही में भी नजर आया. सभी सांसद मास्क के साथ दिखाई दिए तो कुछ सांसदों ने फेस शील्ड का भी इस्तेमाल किया। मानसून सत्र के पहले दिन लोकसभा की कार्यवाही परंपरा के मुताबिक राष्ट्रगान के साथ शुरू हुई।

आज बुधवार को मॉनसून सत्र के 10वें दिन लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने इसकी घोषणा की है। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण समय से पहले मॉनसून सत्र को खत्म किया गया है। एक अक्टूबर तक चलने वाले इस सत्र को 8 दिन पहले ही खत्म करने का फैसला लिया गया। संसद के इस सत्र में कुल 25 बिल पास हुए हैं। इनमें कृषि से संबंधित तीन और श्रम सुधार से जुड़े तीन बिल शामिल हैं।

संसद में कोरोना के चलते सांसद कम उपस्थित हो पा रहे हैं, कांग्रेस सांसदों की अनुपस्थिति ज्यादा है, जिसका फ़ायदा उठाकर मोदी सरकार धड़ाधड़ बिल पास करा रही है।

सत्र के दौरान पारित किए गए 25 विधेयकों में कृषि क्षेत्र से संबंधित तीन विधेयक, महामारी संशोधन विधेयक, विदेशी अभिदाय विनियमन संशोधन विधेयक, जम्मू कश्मीर आधिकारिक भाषा विधेयक शामिल हैं।

बुधवार को राज्यसभा ने विपक्ष के बहिष्कार के बीच मजदूरों और कामगारों से जुड़े तीन बिल और जम्मू-कश्मीर राजभाषा विधेयक समेत कुल 6 विधेयक पास किए। राज्यसभा में उपजीविकाजन्य सुरक्षा, स्वास्थ्य और कार्यदशा संहिता 2020, औद्योगिक संबंध संहिता 2020, सामाजिक सुरक्षा संहिता 2020, विदेशी अभिदाय विनियमन (संशोधन) विधेयक 2020, अर्हित वित्तीय संविदा द्विपक्षीय नेटिंग विधेयक 2020 और जम्मू-कश्मीर राजभाषा विधेयक 2020 बिल पारित हुए। ये सभी विधेयक लोकसभा में पहले ही पास हो चुके हैं।

loading...