बेंगलुरु हिंसा: NIA का जबरदस्त एक्शन जारी, साजिशकर्ता सैयद सादिक अली को किया गिरफ्तार

बेंगलुरु, 24 सितंबर: कर्नाटक के बेंगलुरु में मंगलवार ( 11 अगस्त, 2020 ) देर रात दंगे और आगजनी का भीषण नज़ारा देखने को मिला। 1000 से भी अधिक की मुस्लिम भीड़ ने दलित समाज से ताल्लुक रखनें वाले स्थानीय विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेर लिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी। उनका आरोप था कि विधायक के रिश्तेदार ने पैगम्बर मुहम्मद को लेकर फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट किया है।

बेंगलुरु में हुए हिंसा की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA ) का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है, एनआईए ने 44 वर्षीय सैयद सादिक अली नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार किया है, जिसपर बेंगलुरु हिंसा की साजिश रचने का आरोप है. NIA ने बेंगलुरु हिंसा मामले में 30 स्थानों पर छापेमारी की थी, गौरतलब है कि दंगाइयों ने विधायक का घर फूंकने के साथ-साथ डीजे हल्ली व् केजी हल्ली पुलिस स्टेशन को भी जलाकर राख कर दिया था.

बेंगलुरु में हुए हिंसा को लेकर सीएम येदियुरप्पा ने कहा था कि हमारी सरकार ने केजी हल्ली और डीजी हल्ली में हुई हिंसक घटनाओं में सार्वजनिक और निजी संपत्ति को हुए नुकसान का आकलन करने और दोषियों से लागत वसूलने का फैसला किया है। हम माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार माननीय उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएँगे और क्लेम कमिश्नर की नियुक्ति करेंगे। गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (यूएपीए) के तहत डीजे हल्ली और केजी हल्ली हिंसक घटनाओं के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू की गई है।

loading...