पैंगोंग में भारतीय जवानों की बढ़त से खौफ में चीन, डर-डर कर ड्यूटी कर रहे हैं चीनी सैनिक

लदाख, 23 सितंबर: भारत और चीन के बीच पिछले कई महीनों से लद्दाख में LAC पर विवाद जारी है, इस विवाद को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच सैन्य स्तर की बातचीत भी रही है लेकिन चीन चालबाजी करना चाहता है जो भारत को मंजूर नहीं है।

भारतीय वार्ताकार पूर्वी लद्दाख में सभी विवादित जगहों से सेना को हटाने और यथास्थिति की बहाली की मांग कर रहे हैं। उधर, चीन लगातार इस बात पर जोर दे रहा है कि भारत पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर स्थित रणनीतिक रूप से महत्‍वपूर्ण ऊंचाई वाली चोटियों से अपने जवानों को हटाए।

हालांकि भारत और चीन के बीच कमांडर लेवल की छठे दौर की मीटिंग में महत्वपूर्ण सहमति भी बनी है। दोनों ही देशों के सैन्य अधिकारियों ने इस बात पर सहमति जताई है कि भारत और चीन अग्रिम चौकियों पर अब और ज्यादा सैनिक नहीं भेजेंगे।

इस साझा बयान में कहा गया है कि दोनों देश सातवें दौर की जल्‍द से जल्‍द वार्ता करेंगे और जमीनी स्‍तर पर समस्‍या को सुलझाने के लिए व्‍यवहारिक कदम उठाएंगे। साथ ही सीमाई इलाके में संयुक्‍त रूप से शांति और सद्भाव की रक्षा करेंगे।

उधर पैंगॉन्ग में भारतीय सेना की बढ़त से चीनी जवानों में खौफ है, जानकारी के अनुसार, चीनी सैनिक डर-डरकर ड्यूटी कर रहें हैं और अब घुसपैठ करने की तो तो हिम्मत भी नहीं करते हैं, क्योंकि गलवान घाटी में दुस्साहस का परिणाम भुगत चुके हैं. हाल ही में एक वीडियो सामने आया था जिसमें चीनी सैनिको बिलखते हुए नजर आ रहे थे।

loading...