हाथरस काण्ड: पुलिस ने रात में ही कर दिया पीड़िता का अंतिम संस्कार, परिवार को नहीं सौंपा शव

हाथरस के चंदपा क्षेत्र के बुलगाड़ी में कथित गैंगरेप की शिकार पीड़िता की मौत के बाद पुलिस और जिला प्रशासन का शर्मनाक चेहरा सामने आया है. दिल्ली से शव लाने के बाद पुलिस ने उसे परिवार को नहीं सौंपा और रात में ही बिना रीति रिवाज के पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया. पुलिस और प्रशासन के इस रवैये से परिजनों व ग्रामीणों में भारी आक्रोश है।

इससे पहले जब शव गांव पहुंचा तो उसे परिजनों को नहीं सौंपा गया. इसके बाद परिजनों ने एम्बुलेंस के सामने लेटकर आक्रोश जताया. इस दौराम एसडीएम पर परिजनों के साथ बदसलूकी करने का आरोप लगा. इसके बाद पुलिस और ग्रामीणों में झड़प हो गई।

जानकारी के अनुसार, परिजन रात में शव का अंतिम संस्कार नहीं करना चाहते थे, जबकि पुलिस तुरंत अंतिम संस्कार कराना चाहती थी. इसके बाद आधी रात के बाद करीब 2:40 बजे बिना किसी रीति रिवाज के और परिजनों की गैरमौजूदगी में पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया. इसको लेकर हाथरस पुलिस-प्रसाशन की जमकर आलोचना हो रही है।

loading...