‘कृषि बिल’ विरोधियों पर भारी पड़े कृषि बिल समर्थक, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ- ‘भारत बंद नहीं होगा’

चित्र साभार - जी न्यूज़

विपक्ष के भारी हंगामे और गुंडागर्दी के बावजूद ‘कृषि विधेयक’ लोकसभा में पास होने के बाद रविवार को राज्यसभा में भी पास हो गया, विपक्षी पार्टियां संसद से लेकर सड़क तक विरोध कर रही हैं तो वहीँ कृषि बिल समर्थकों की भी संख्या कम नहीं है।

दरअसल कृषि बिल विरोधियों ( खासकर कांग्रेसियों ) ने ट्विटर पर 25 सितंबर को “भारत बंद करने के समर्थन में ट्रेंड करवाया, विरोधियों का कहना है कि कृषि बिल किसानों के खिलाफ है, इसलिए 25 सितंबर को कृषि बिल के विरोध में भारत बंद करेंगें। हालाँकि ‘भारत बंद’ ट्रेंड ट्विटर पर टॉप ट्रेंड हो पाता इससे पहले कृषि बिल समर्थकों की फ़ौज ट्विटर पर टूट पड़ी और देखते ही देखते कृषि बिल विरोधियों पर भारी पड़ गई।

ट्विटर पर मंगलवार को दिनभर #भारत_बंद_नही_होगा टॉप ट्रेंड होता रहा, कृषि बिल विरोधी इस ट्रेंड के आस-पास भी नहीं भटक पाए। #भारत_बंद_नही_होगा ये ट्रेंड ट्विटर यूजर अजय सिंह सेंगर, हार्दिक भवसार समेत देशभर के कृषि बिल समर्थकों ने शुरू किया था, दोनों लोगों के मिलाकर लगभग 2 लाख फॉलोवर हैं। सुबह से ही ये ट्रेंड ट्विटर पर छाया रहा। इस ट्रेंड के माध्यम से यह बताने की कोशिश की गई कि ‘भारत बंद करना देशहित में नहीं है’ और कृषि बिल किसान विरोधी नहीं है।

कृषि बिल समर्थकों का कहना है कि भारत किसी के बाप की जागीर नहीं है जो बंद कर देंगें। कुछ समर्थकों का यह भी कहना है कि जिनको खरीफ और रबी की फसल में अंतर तक नही पता. वो भी कृषि विशेषज्ञ बनकर किसान अधिनियम के नुकसानों पर ज्ञान दे रहे हैं।

कृषि बिल समर्थक अजय सेंगर ने अपने ट्वीट में लिखा, आदमी बूढ़ा होने के साथ अपनी याददाश्त भी भूल जाता है, 2012 में कपिल सिब्बल इस किसान बिल की खूबियां गिना रहे थे आज उसी का विरोध कर रहे है। मतलब समझ जाओ बिल किसानों के हित मे है. ( कपिल सिब्बल यानि कांग्रेस ने 2012 में इस बिल का समर्थन किया था, विस्तार से पढ़ें )

कृषि बिल समर्थक हार्दिक भवसार ने अपने ट्वीट में लिखा, लिबरल ओर कांग्रेसी किसानों की आड़ में ‘भारत बंद का ट्रेंड’ चला कर देश की जनता को भ्रमित व् भड़काना चाहते है, पर सुन लो कांग्रेसियों ये जुतियाप हम चलने नही देंगे। अर्थात भारत बंद नहीं होगा, क्योंकि बिल किसानों के हित में है।

आशा नाकुम ने अपने ट्वीट में लिखा, कृषि विधेयक किसानों के हित में है, भारत बंद का विरोध करते हुए उन्होनें लिखा, वैसे ही देशवासी कोरोना की मार झेल रहे है, ऐसे में देश का अहित हम होने नहीं देंगे, अर्थात भारत बंद नहीं होने देंगें। ठीक इसी तरह कृषि बिल समर्थक अपनी राय रख रहे हैं।

loading...